सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

वचन देह में प्रकट होता है

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

इकतालीसवां कथन

कलीसिया में उत्पन्न होने वाली समस्याओं के बारे में इतनी सारी गलतफ़हमियां मत रखो। जब कलीसिया का निर्माण होगा, तो गलतियों से बचना असंभव रहेगा, लेकिन जब तुम समस्याओं का सामना करो तो घबराओ मत; शांत और स्थिर रहो। क्या मैंने तुम लोगों को यह नहीं बताया है? अक्सर मुझसे प्रार्थना करो, और मैं स्पष्ट रूप से तुम्हें अपने इरादे दिखाऊंगा। कलीसिया मेरा दिल है और यह मेरा अंतिम लक्ष्य है, मैं इसे कैसे प्यार नहीं करूंगा? डरो मत, जब इस तरह की चीज़ें कलीसिया में होती हैं, तो यह सब मेरी अनुमति से होती हैं। खड़े हो जाओ और मेरी आवाज़ बनो। विश्वास रखो कि सभी चीज़ों और सभी मामलों की अनुमति मेरे सिंहासन द्वारा है और सभी में मेरे इरादे हैं। यदि तुम इरादतन साहचर्य जारी रखोगे तो समस्याएं होंगी, क्या तुमने परिणामों के बारे में सोचा है? यह वह चीज़ है जिसका लाभ शैतान उठाएगा। मेरे पास अक्सर आओ। मैं स्पष्ट रूप से बात करूंगा: यदि तुम मेरे समक्ष आए बिना कुछ करने जा रहे हो, तो यह न सोचना कि तुम उसे पूरा कर पाओगे। तुम ही लोग हो जिन्होंने मुझे इस स्थिति में डाला है। निराश न हो, कमज़ोर न बनो, मैं तुम्हारे सामने प्रकट करूंगा। राज्य की राह इतनी आसान नहीं है, कुछ भी इतना सरल नहीं है! तुम चाहते हो कि आशीष आसानी से मिल जाएं, हैं न? आज हर किसी को कड़वे परीक्षणों का सामना करना होगा, अन्यथा तुम लोगों के पास जो मुझे प्यार करने वाला दिल है वह मजबूत नहीं होगा और मेरे लिए तुम्हारा प्यार सच्चा नहीं होगा। यहां तक कि यदि मामूली परिस्थितियां भी होंगी, तो भी सभी को उनसे गुज़रना होगा, बस वे कुछ हद तक भिन्न होंगी। परिस्थिति मेरे आशीषों में से एक है, मेरा आशीष प्राप्त करने के लिए कितने हैं जो मेरे सामने घुटने टेकते हैं? बेवकूफ़ बच्चे! तुम्हें हमेशा महसूस होता है कि कुछ भाग्यशाली वचन मेरा आशीष हैं, फिर भी तुम्हें यह नहीं लगता कि कड़वाहट मेरे आशीषों में से एक है। जो लोग मेरी कड़वाहट को बांटेंगे वे निश्चित रूप से मेरी मिठास भी साझा करेंगे। यह मेरा वादा है और तुम लोगों को मेरा आशीष है। खाने और पीने और आनंद लेने में संकोच न करो। जब अंधेरा गुज़र जाएगा, तब रोशनी होगी। सुबह होने से पहले सबसे अधिक अंधेरा होता है; इस समय के बाद धीरे-धीरे उजाला हो जाएगा, और बाद में सूर्य उदय होगा। डरो मत या कायर मत बनो। आज मैं अपने बेटों का समर्थन करता हूं और उनके लिए अपनी शक्ति का उपयोग करता हूं।

जब कलीसिया की बात आती है, तो अपने उत्तरदायित्व से मुंह न मोड़ो। यदि तुम मेरे पास इस मामले को ईमानदारी से लाओगे, तो तुम्हें कोई राह मिल जाएगी। जब ऐसी कोई छोटी बात आती है, तो तुम डर जाते हो और घबरा जाते हो, तुम्हें समझ नहीं आता कि तुम क्या करो? मैंने कई बार कहा है, "अक्सर मेरे पास आओ!" क्या तुम लोगों ने ईमानदारी से उन चीज़ों का अभ्यास किया है जो मैंने तुम्हें करने के लिए कहा है? मेरे वचनों पर कितनी बार तुमने विचार किया है? इसलिए, तुम्हारे पास कोई स्पष्ट अंतर्दृष्टि नहीं है। क्या इसका कारण तुम नहीं हो? तुम दूसरों को दोष देते हो, तुम अपने आप से नफ़रत क्यों नहीं करते हो? तुमने चीज़ों को अस्तव्यस्त कर दिया है और फिर भी तुम ईमानदार नहीं हो और लापरवाह हो; तुम्हें मेरे वचन पर ध्यान देना होगा।

आज्ञाकारी और समर्पित व्यक्तियों को महान आशीष प्राप्त होंगे। कलीसिया में, तुम मेरी गवाही में दृढ़ रहोगे, सत्य पर बने रहोगे—गलत गलत है और सही सही है—और काले और सफ़ेद के बीच भ्रमित नहीं होगे। तुम शैतान के साथ युद्ध पर होगे और तुम्हें उसे पूरी तरह से हराना होगा ताकि वह फिर कभी न खड़ा हो सके। मेरी गवाही की रक्षा के लिए तुम्हें सब कुछ बलिदान करना होगा। यह तुम्हारे कार्यों का लक्ष्य होगा, इसे मत भूलना। लेकिन अभी, तुम में विश्वास की कमी है और चीज़ों में अंतर करने की क्षमता में कमी है और तुम हमेशा मेरे वचनों और मेरे इरादों को समझने में असमर्थ रहते हो। फिर भी, चिंता मत करो; सब कुछ मेरे कदमों के अनुसार आगे बढ़ता है और चिंता केवल परेशानी पैदा करती है। मेरे पास अधिक समय बिताओ और शारीरिक देह के लिए भोजन और कपड़ों पर ध्यान न दो। अक्सर मेरे इरादों की तलाश करो, और मैं स्पष्ट रूप से तुम्हें दिखाऊंगा कि वे क्या हैं। धीरे-धीरे तुम्हें हर चीज़ में मेरा इरादा दिखाई देगा, और इससे मुझे किसी भी बाधा के बिना सभी में प्रवेश करने का मार्ग मिलेगा। यह मेरे दिल को संतुष्ट करेगा और तुम लोग हमेशा के लिए मेरा आशीष प्राप्त करोगे!

पिछला:चालीसवां कथन

अगला:इक्यावनवाँ कथन

शायद आपको पसंद आये