सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

नवीनतम पठन

तुम में से प्रत्येक व्यक्ति परमेश्वर में विश्वास करके नए सिरे से अपने जीवन की जांच करके यह देख सकता है कि क्या परमेश्वर को खोजते समय, तुम सच्चे रूप में समझ पाए हो, सच्चे रूप में पूर्णत: समझ गये हो, और सच्चे रूप में परमेश्वर को जाने हो, और यह कि तूम सच्चे रूप में जान गये हो कि, विभिन्न मनुष्यों के प्रति परमेश्वर का मनोभाव क्या है, और यह कि तुम वास्तव में यह समझ गये हो कि परमेश्वर तुम पर क्या कार्य कर रहा है और परमेश्वर कैसे उसके प्रत्येक कार्य को व्यक्त करता है।

अधिक

सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंत के दिनों के यीशु, लोगों का न्याय करने व उन्हें शुद्ध करने के लिए, और उन्हें नए युग—राज्य का युग—में ले जाने हेतु मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए वचन बोलते हैं। मसीह के प्रभुत्व के अधीन सभी आज्ञाकारी लोग उच्चतम सत्य का आनंद ले पाएँगे, अधिक आशीर्वाद ले पाएँगे, वास्तव में प्रकाश में पाएँगे, और साथ ही सत्य, मार्ग, और जीवन को भी प्राप्त करेंगे।

0 40:05
0 22:18
0 48:57
0 21:10
0 28:29
0 28:20
0 26:42
0 21:43
0 29:44
0 26:20
0 26:20
0 25:58
0 33:58
0 25:50
0 21:19
0 36:29
0 23:49
0 19:35
0 24:19
0 11:34
0 11:18
0 16:59
0 24:59
0 20:18
0 19:18
0 25:11
0 21:17
0 34:01
0 39:35
0 22:02
0 17:45
0 16:26
0 24:00
0 42:50
0 26:36
0 32:58
0 25:28
0 36:19
0 34:57
0 31:21
0 37:19
0 31:21
0 34:25
0 34:19
0 24:08
0 19:51
0 30:48
0 37:07
0 54:26
0 58:19
0 53:59
0 31:27
0 50:18
0 33:34
0 19:49
0 48:20
0 31:53
0 45:27
0 55:49
0 45:52
0 38:25
0 34:18
0 39:32
0 45:49
0 38:54
0 39:42
0 42:29
0 39:34
0 50:36
0 42:13
0 35:32
0 52:51
0 48:36
0 47:52
0 12:38
0 22:37
0 25:03
0 25:25
0 23:22
0 22:07
0 10:55
0 15:57
0 38:00
0 28:44
0 53:23
0 23:20
0 52:31
0 23:13
0 6:22
0 33:08
0 50:36
0 37:08
0 24:04
0 28:32
0 20:41
0 45:19
0 40:06
0 44:07
0 23:23
0 37:24
0 00:00
0 00:00
0 21:57
0 22:44
0 19:38
0 18:56
0 20:42
0 41:00
0 41:15
0 42:54
0 42:35
0 30:57
0 42:24
0 43:20
0 27:15
0 19:26
0 25:51
0 55:42
0 00:00
0 56:53
0 22:07
0 21:16
0 26:08
0 00:00
0 00:00
0 00:00
0 24:16
0 36:30
0 49:42
0 51:10
0 21:47
0 23:54
0 25:15
0 00:00
0 25:05
अधिक