अध्याय 93

वास्तविकता व्यक्ति की आँखों के सामने हासिल की जाती है और हर एक चीज पहले ही हासिल की जा चुकी है; मेरे कार्य की गति तेज हो जाती है, ऊंची हो जाती है जैसे प्रक्षेपण के बाद रॉकेट। कभी किसी ने इसकी उम्मीद नहीं की थी। केवल चीज़ों के होने के बाद ही तुम लोग मेरे वचनों के सही अर्थ को समझोगे। बड़े लाल अजगर की संतान कोई अपवाद नहीं हैं और उन्हें उनकी ही आँखों से मेरे अद्भुत कर्म दिखाए जाने चाहिए। ऐसा मत सोचो कि चूँकि तुम मेरे कर्मों को देखने के बाद मेरे बारे में निश्चित हो, तो मैं तुम्हें नहीं त्यागूँगा—तो यह इतना आसान नहीं है! मैं निश्चित रूप से उन वचनों को पूरा करूँगा, जिन्हें मैंने कहा है और जो घटनाएँ मैंने निर्धारित की हैं और वे मेरे पास ख़ाली वापस नहीं आएँगे। चीन में, उन अल्पसंख्य लोगों के अलावा जो मेरे पहलौठे पुत्र हैं, कुछ हैं जो मेरे लोग हैं। तो मैं आज तुम लोगों (बड़े लाल अजगर की संतान, जिन्होंने मुझे सबसे ज्यादा भयानक रूप से उत्पीड़ित किया है) को स्पष्ट रूप से कहता हूँ कि तुम लोगों को कोई भी बड़ी उम्मीद नहीं रखनी चाहिए और यह कि मेरे कार्य का केंद्र (सृष्टि के सृजन के बाद से) मेरे पहलौठे पुत्रों और चीन से परे कई देशों पर रहा है। इस कारण से जब मेरे पहलौठे पुत्र बड़े हो जाएँगे, तो मेरी इच्छा पूरी हो जाएगी। (एक बार मेरे पहलौठे पुत्र बड़े हो जाएँ तो सब कुछ किया जाएगा, क्योंकि आगे का कार्य उन्हें दिया जाता है।) अब मैं इन लोगों को केवल अपने अद्भुत कर्मों का एक हिस्सा देखने की अनुमति देता हूँ ताकि बड़े लाल अजगर को शर्मिंदा किया जा सके। ये लोग उसमें आनंद लेने में समर्थ ही नहीं हैं बल्कि केवल इस बात से खुश रह सकते हैं कि वे मेरे लिए सेवा प्रदान करते हैं। और उनके पास कोई विकल्प नहीं है क्योंकि मेरे अपने प्रशासनिक आदेश हैं और कोई भी उनका अपमान करने का साहस नहीं करता।

अब मैं कुछ परिस्थितियों के बारे में संगति करूँगा, जिसमें विदेशियों का आगमन शामिल है ताकि तुम लोगों को इसका पूर्वज्ञान हो सके, मेरे नाम की गवाही देने के लिए हर चीज़ ठीक से तैयार कर सको और उनके ऊपर जाकर खड़े हो सको और उन पर शासन कर सको। (मैं कहता हूँ कि तुम "उनसे ऊपर खड़े रहो और उन पर शासन करो" क्योंकि उनमें से सबसे बड़ा अभी भी तुम लोगों के बीच सबसे छोटा है।)। इन सभी लोगों ने पवित्र आत्मा का प्रकाशन प्राप्त कर लिया है और भविष्य में वे सभी चीन में एक साथ इकट्ठा होंगे, मानो पूर्व व्यवस्था से ऐसा हुआ हो। बड़ा लाल अजगर चौंक जाता है और विरोध करने की अपनी पूरी कोशिश करता है, लेकिन एक बात याद रखो! मेरी प्रबंधन योजना सर्वथा साकार हो गई है और कुछ भी और कोई भी व्यक्ति मेरे कदमों को बाधित करने का साहस नहीं करता है। मैं उन्हें हर समय प्रकाशन देता हूँ और वे पवित्र आत्मा के मार्गदर्शन का पालन करके कार्य करते हैं। वे निश्चित रूप से बड़े लाल अजगर के बंधन को नहीं भुगतेंगे क्योंकि मुझमें सभी को मुक्त और स्वतंत्र कर दिया जाता है। तुम लोग उनकी चरवाही करने के प्रारंभिक कार्य को करो इसकी प्रतीक्षा करते हुए मैंने सभी चीज़ों को उचित तरीके से व्यवस्थित किया है। मैंने ऐसा हमेशा कहा है किंतु तुम लोगों में से अधिकांश अभी भी केवल आधा विश्वास करते हो। अभी के बारे में क्या है? तुम लोग हक्के-बक्के हो गए हो, है ना?

ये सभी बातें गौण हैं; तुम लोगों के लिए मुख्य बात समस्त प्रारंभिक कार्य को जितना जल्दी हो सके पूरा करना है। भयभीत मत हो। एकमात्र जो कार्य करता है वह मैं हूँ और जब समय आएगा, तो मैं अपना कार्य स्वयं करूँगा। मैंने बड़े लाल अजगर को चूर-चूर कर दिया है। कहने का मतलब है, मेरा आत्मा मेरे पहलौठे पुत्रों के अलावा सभी लोगों से वापस हट गया है (और अब यह प्रकट करना आसान है कि कौन बड़े लाल अजगर की संतान हैं)। इन लोगों ने मेरे लिए सेवा प्रदान करना समाप्त कर दिया है और मैं उन्हें वापस अथाह कुंड में भेज दूँगा। (इसका मतलब है कि मैं उनमें से किसी का भी उपयोग नहीं करूँगा। अब से मेरे पहलौठे पुत्रों को पूरी तरह प्रकट किया जाएगा और जो मेरी ओर हैं और जो मेरे उपयोग के लिए उपयुक्त हैं, वे मेरे पहलौठे पुत्र होंगे।) मेरे पहलौठे पुत्रों, तुम लोग आधिकारिक रूप से उन आशीषों का आनंद लेते हो जो मैं तुम लोगों को प्रदान करता हूँ (क्योंकि जिनसे मैं घृणा करता हूँ उन सभी ने अपने असली रंग दिखा दिए हैं) और अब से तुम लोगों के बीच मेरे विरुद्ध अवज्ञा के उदाहरण नहीं होंगे। तुम लोग वास्तव में मेरे बारे में एक सौ प्रतिशत निश्चित हो। (केवल आज ही यह पूरी तरह से निष्पादित होता है और इस बार मैंने पूर्वनिर्धारित किया)। जो कुछ भी तुम लोग अपने मन और मस्तिष्क में रखते हो, वह मेरे लिए अंतहीन प्रेम और सम्मान है और तुम लोग मेरी स्तुति करते हो और हर समय मुझे महिमा देते हो। तुम लोग सच में, मेरे प्रेम की देखभाल और सुरक्षा के अधीन तीसरे स्वर्ग में रह रहे हो। कितना अनुपम आनंद और खुशी! यह एक अन्य क्षेत्र है जिसकी कल्पना करना लोगों को मुश्किल लगता है—सच्ची आध्यात्मिक दुनिया!

सभी आपदाएँ एक के बाद एक उत्पन्न होती हैं, प्रत्येक अंतिम से अधिक गंभीर होती है और स्थिति दिन—प्रतिदिन अधिक तनावपूर्ण होती जाती है। यह आपदाओं की केवल शुरुआत है; आने वाली अधिक गंभीर आपदाएँ मनुष्य के लिए अकल्पनीय हैं। मेरे पुत्रों को उन्हें निबटाने दो; यह मेरा प्रशासनिक आदेश है और इसे मैंने बहुत पहले व्यवस्थित किया था। सभी संकेत और अद्भुत काम जो मनुष्य ने पहले कभी नहीं देखे हैं, सभी लोगों (अर्थात मेरे राज्य के सभी लोगों) के सामने एक के बाद एक प्रकट होते हुए मुझसे उत्पन्न होते हैं। किंतु यह ऐसा कुछ है, जो निकट भविष्य में होगा। चिंता मत करो। राज्य में प्रवेश, जिसके बारे में पहले प्रत्येक ने बोला है-राज्य में प्रवेश करने की अवस्था क्या है? और राज्य क्या है? क्या यह एक भौतिक शहर है? तुम लोग ग़लत समझते हो। राज्य पृथ्वी पर नहीं है, न ही भौतिक आकाश में है, बल्कि आध्यात्मिक दुनिया है जिसे मनुष्य द्वारा देखा या छुआ नहीं जा सकता। केवल वे जिन्होंने मेरा नाम स्वीकार कर लिया है, जो मेरे द्वारा पूरी तरह से पूर्ण किए गए हैं और मेरे आशीष का आनंद लेते हैं, वे ही इसमें प्रवेश करने में समर्थ होंगे। आध्यात्मिक दुनिया जिसका पहले बार-बार उल्लेख किया गया है, वह राज्य की सतह है। सच में राज्य में प्रवेश करना, हालाँकि, कोई आसान बात नहीं है। जो लोग इसमें प्रवेश करते हैं उन्हें मेरी प्रतिज्ञा प्राप्त करनी होगी और वे ऐसे लोग होने चाहिए जिन्हें मैंने स्वयं पूर्वनियत किया है और चुना है। इसलिए आध्यात्मिक दुनिया ऐसी जगह नहीं है जहाँ लोग जैसे चाहें वैसे आ और जा सकते हैं। इस बारे में लोगों की समझ बहुत सतही हुआ करती थी और यह केवल मनुष्य की धारणाएँ ही थीं। केवल वे जो राज्य में प्रवेश करते हैं, आशीषों का आनंद ले सकते हैं, इसलिए न केवल इन आशीषों का आनंद मनुष्य नहीं ले सकता है, बल्कि इससे भी अधिक वह उन्हें देख भी नहीं सकता। यह मेरा अंतिम प्रशासनिक आदेश है।

पिछला: अध्याय 92

अगला: अध्याय 94

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

भ्रष्ट मनुष्यजाति को देहधारी परमेश्वर द्वारा उद्धार की अधिक आवश्यकता है

परमेश्वर इसलिए देहधारी बना क्योंकि उसके कार्य का लक्ष्य शैतान की आत्मा, या कोई अमूर्त चीज़ नहीं, बल्कि मनुष्य है, जो हाड़-माँस का बना है और...

परमेश्वर के वचन के द्वारा सब-कुछ प्राप्त हो जाता है

परमेश्वर भिन्न-भिन्न युगों के अनुसार अपने वचन कहता है और अपना कार्य करता है, तथा भिन्न-भिन्न युगों में वह भिन्न-भिन्न वचन कहता है। परमेश्वर...

अध्याय 3

आज अनुग्रह का युग तो रहा नहीं, न ही करुणा का युग है, बल्कि यह राज्य का युग है जिसमें परमेश्वर के लोग प्रकट किए जाते हैं, वह युग जिसमें...

सात गर्जनाएँ गूँजती हैं—भविष्यवाणी करती हैं कि राज्य के सुसमाचार पूरे ब्रह्मांड में फैल जाएँगे

मैं अपने कार्य को अन्य जाति देशों में फैला रहा हूँ। मेरी महिमा पूरे ब्रह्मांड में जगमगा रही है; मेरी इच्छा सितारे-सितारे-बिंदु-बिंदु लोगों...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर धर्मोपदेश और संगति अंत के दिनों के मसीह—उद्धारकर्ता का प्रकटन और कार्य राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें