अध्याय 43

क्या मैंने तुम्हें याद नहीं दिलाया है? आशंकित मत हो; तुम सब इतने बेपरवाह हो कि तुम लोगों ने मेरी बात सुनी ही नहीं है! तुम मेरे दिल को कब समझ पाओगे? हर दिन एक नया प्रबोधन होता है, हर दिन नई रोशनी होती है। तुम लोगों ने कितनी बार इसे अपने लिए समझा है? क्या खुद मैंने तुम सभी को नहीं बताया है? तुम अभी भी उन कीड़ों की तरह निष्क्रिय हो जो केवल छेड़े जाने पर ही खिसकेंगे, और तुम मेरे साथ सहयोग करने के लिए पहल करने में, मेरे बोझ के प्रति विचारशील होने में, असमर्थ हो। मैं तुम सभी की जीवंत और सुंदर मुस्कुराहट को, मेरे पुत्रों के सक्रिय और जीवंत तरीकों को, देखना चाहता हूँ लेकिन मैं नहीं देख पाता हूँ। इसके बजाय, तुम अपने दिमाग़ में कमज़ोर हो, अनाड़ी और मूर्ख हो। तुम सभी को खोज करने की पहल करनी चाहिए। निडरता से खोज करो! बस अपने दिलों को खोलो और मुझे अपने भीतर रहने दो। सावधान रहो और ध्यान दो! कलीसिया में कुछ लोग धोखेबाज़ हैं और तुम्हें हमेशा इन वचनों पर अधिक ध्यान देना चाहिए, ताकि तुम्हारे जीवन प्रभावित न हों या कुछ नुकसान न हो जाए। आश्वस्त रहो, जब तक तुम मेरे लिए खड़े होने और बोलने का साहस रखते हो, तब तक मैं इन सबका भार उठा लूँगा और तुम्हें सशक्त बनाऊँगा! जब तक तुम मेरे दिल को संतुष्ट करते हो, मैं हमेशा तुम्हें अपनी मुस्कुराहट और अपनी इच्छा को दिखाऊँगा। जब तक तुम्हारे पास एक मजबूत मनोबल है, और तुम एक मर्द बच्चे के स्वभाव को जीते हो, मैं तुम्हारा समर्थन करूँगा और तुम्हें एक महत्वपूर्ण स्थिति में रखूँगा। जब भी तुम मेरे सामने आते हो, तो बस मेरे करीब आओ। अगर तुम बात नहीं भी कर पाओ, तो डरो मत। जब तक तुम्हारे पास एक जिज्ञासु हृदय है, मैं तुम्हें वचन प्रदान करता रहूँगा। मुझे चिकने-चुपड़े शब्द या तुम्हारी चापलूसी की ज़रूरत नहीं है; मुझे इस तरह की चीज़ों से सबसे अधिक नफ़रत है। मैं इस प्रकार के व्यक्ति से सबसे अधिक अप्रसन्न होता हूँ। इस तरह के लोग मेरी आँखों में एक चुभते कण या मेरे देह में एक काँटे की तरह हैं, जिसे हटा दिया जाना चाहिए। अन्यथा मेरे पुत्र मेरे लिए शक्ति का प्रयोग नहीं कर सकते और वे एक घुटते नियंत्रण के अधीन हो जाएँगे। मैं क्यों आया हूँ? यह मेरे पुत्रों को समर्थन और प्रोत्साहन देने के लिए है, ताकि यातना, धमकी, बेदर्दी और दुर्व्यवहार सहने के उनके दिन हमेशा के लिए चले जाएँ!

साहसी बनो। मैं हमेशा तुम्हारे साथ चलूँगा, तुम्हारे साथ रहूँगा, तुम्हारे साथ बात करूँगा और तुम्हारे साथ मिलकर कार्य करूँगा। डरो मत। बोलने में संकोच मत करो। तुम लोग हमेशा भावुक, भीरू और डरपोक रहते हो। जो लोग कलीसिया के निर्माण में किसी काम के नहीं हैं, उन्हें हटा दिया जाना चाहिए। इसमें कलीसिया के वे लोग शामिल हैं जिनकी स्थितियाँ अच्छी नहीं हैं और जो मेरे वचनों के अनुसार कार्य नहीं कर सकते हैं, इसमें तुम्हारे अविश्वासी माता-पिता भी शामिल हैं। मैं उन चीज़ों को नहीं चाहता हूँ। उन्हें हटा दिया जाना चाहिए, और उनमें से कोई भी बाक़ी नहीं रहना चाहिए। बस अपने हाथों और पैरों पर लगी बेड़ियों को हटा दो। जब तक तुम अपने इरादों की जाँच करते हो, और वे न तो लाभ, हानि, प्रसिद्धि और धन, और न ही व्यक्तिगत संबंधों से जुड़े हुए हैं, मैं तुम्हारे साथ चलूँगा, चीज़ों को बताता रहूँगा और तुम्हें हर समय स्पष्ट मार्गदर्शन दूँगा।

मेरे पुत्रों! मैं क्या कहूँ? हालांकि मैं इन बातों को कहता हूँ, तुम लोग अभी भी मेरे दिल के प्रति विचारशील नहीं हो और अभी भी बहुत भीरू हो। तुम किस बात से डरते हो? तुम अभी भी कानूनों और नियमों से क्यों बंधे हुए हो? मैंने तुम्हें मुक्त किया है, लेकिन तुम लोगों के पास अभी भी कोई स्वतंत्रता नहीं है। ऐसा क्यों है? मेरे साथ अधिक संवाद करो और मैं तुम्हें बता दूँगा। मेरी परीक्षा मत लो। मैं असली हूँ। मैं ढोंगी नहीं हूँ, और यह सब असली है! मैं जो भी कहता हूँ वह सच है, और मैं कभी भी अपनी बात से पीछे नहीं हटता हूँ।

पिछला: अध्याय 42

अगला: अध्याय 44

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

बाइबल के विषय में (1)

परमेश्वर में विश्वास करते हुए बाइबल के समीप कैसे जाना चाहिए? यह एक सैद्धांतिक प्रश्न है। हम इस प्रश्न पर संवाद क्यों कर रहे हैं? क्योंकि...

कार्य और प्रवेश (9)

गहरी नस्लीय परंपराओं और मानसिक दृष्टिकोण ने लंबे समय से मनुष्य के शुद्ध और बाल-सुलभ उत्साह पर ग्रहण लगा रखा है, मनुष्य की आत्मा पर उन्होंने...

परमेश्वर के स्वभाव और उसका कार्य जो परिणाम हासिल करेगा, उसे कैसे जानें

सबसे पहले, आओ हम एक भजन गाएँ: राज्य गान (I) राज्य जगत में अवतरित होता है।संगत: जन समूह मेरा का जय-जयकार करता है, जन समूह मेरी स्तुति करता...

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें