अध्याय 53

मैं शुरुआत हूँ, और मैं अंत हूँ। मैं ही पुनर्जीवित और संपूर्ण एकमात्र सच्चा परमेश्वर हूँ। मैं तुम लोगों के सामने अपने वचन बोलता हूँ और जो मैं कहता हूँ, तुम लोगों को उस पर दृढ़ता से विश्वास करना चाहिए। आकाश और धरती समाप्त हो सकते हैं, लेकिन जो भी मैं कहता हूँ उसका एक अक्षर या एक रेखा भी कभी नहीं टलेगी। यह याद रखना! इसे याद रखना! एक बार जब मैंने बोल दिया, तो एक वचन भी कभी वापस नहीं लिया गया है, और प्रत्येक वचन पूरा होगा। अब समय आ गया है और तुम लोगों को शीघ्र वास्तविकता में प्रवेश करना होगा। अब ज्यादा समय नहीं है। मैं अपने बेटों को महिमामय राज्य में ले जाऊँगा और जिसके लिए तुम लोगों नें प्रयास किया है और कामना की है, वह साकार हो जाएगा। मेरे बेटो! जल्दी से उठो और मेरे पीछे आओ! तुम लोगों के पास सोचते रहने के लिए पर्याप्त समय नहीं है। खोया हुआ समय कभी वापस नहीं आएगा; अंधेरे के बाद प्रकाश होता है, और स्वर्गारोहण तुम्हारी आंखों के सामने है। क्या तुम लोग समझ रहे हो? अपनी आँखें खोलो! जल्दी से जागो! अब तुम्हें आपस में बात करते हुए फिजूल बातों में उलझने या ऐसा कुछ कहने की अनुमति नहीं है जो कलीसिया के निर्माण के लिए लाभदायक न हो। महत्वपूर्ण यह है कि तुम्हारे भाइयों और बहनों को तुम्हारे व्यावहारिक अनुभव प्रदान किए जाएँ या यह बताया जाए कि कैसे परमेश्वर के सामने तुम रोशन हुए हो और स्वयं को जान पाए हो। जो भी यह प्रदान कर पाएगा उसके पास आध्यात्मिक कद-काठी होगी! आजकल तुममें से कुछ लोग अभी भी डरते नहीं हैं, और मैं चाहे जो भी बोलूँ या जितनी भी चिंता करूँ, तुम निडर बने रहते हो; तुम्हारा पुराना व्यक्तित्व स्वयं को ज़रा-सा भी छूने की अनुमति नहीं देता है। तो फिर ठीक है, इसी तरह काम करते रहो! फिर देखो कौन बर्बाद होता है! तुम हमेशा दुनिया को अपनी मुट्ठी में करने की सोचते रहते हो, धन की लालसा करते रहते हो, अपने बेटों, बेटियों और पति के लिए गहरा लगाव महसूस करते रहते हो। तो फिर ठीक है, लगाव महसूस करते रहो! ऐसा नहीं है कि मेरे वचन तुम लोगों को संबोधित नहीं किए गए हैं, और तुम जैसे चाहो वैसे चलते रहो! निकट भविष्य में तुम लोग सब कुछ समझ जाओगे, लेकिन तब तक पहले ही बहुत देर हो चुकी होगी। केवल न्याय तुम्हारी प्रतीक्षा कर रहा होगा।

पिछला: अध्याय 52

अगला: अध्याय 54

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

अध्याय 3

विजयी राजा अपने शानदार सिंहासन पर बैठता है। उसने छुटकारा दिलाने का कार्य पूरा कर लिया है और महिमा में प्रकट होने के लिए अपने सभी लोगों की...

मार्ग... (3)

अपने जीवन में, मैं अपने तन और मन को परमेश्वर को समर्पित करके हमेशा खुश हूँ। केवल तभी, मेरा अंतःकरण तिरस्कार से रहित और थोड़ा शांति में है।...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें