सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

वचन देह में प्रकट होता है

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

छत्तीसवाँ कथन

सर्वशक्तिमान सच्चा परमेश्वर, सिंहासन पर बैठा राजा, सभी राष्ट्रों और सभी लोगों के सामने, पूरे ब्रह्मांड पर शासन करता है, और स्वर्ग के नीचे का सब कुछ परमेश्वर की महिमा से चमकता है। ब्रह्मांड के अंतिम भागों तक सभी जीवित चीज़ें देखेंगी। सच्चे परमेश्वर के चेहरे के प्रकाश में पर्वतों, नदियों, झीलों, भूमिखण्डों, महासागरों और सभी जीवित प्राणियों ने पुनर्जीवित होकर अपने पर्दे खोले हैं, जैसे कि एक सपने से जाग उठे हों, मिट्टी को चीरकर जैसे अंकुर फूट निकले हों!

आह! वह एकमात्र सच्चा परमेश्वर दुनिया के सामने प्रकट होता है। कौन उसका प्रतिरोध करने का दुस्साहस कर सकता है? हर कोई भय से काँपता है। ऐसा कोई भी नहीं है जो पूरी तरह से आश्वस्त न हो, सब बारंबार क्षमा-याचना करते हैं, सब उसके सामने घुटने टेकते हैं, सारे मुँह उसकी पूजा करते हैं! महादेश और महासागर, पहाड़, नदियाँ, सभी चीज़ें उसकी अनन्त प्रशंसा करते हैं! वसंत ऋतु के साथ आने वाले वसंत के उष्ण झोंके वसंत की सुहावनी बारिश लाते हैं। धाराओं के प्रवाह, लोगों की तरह, दुःख और सुख का अंतर्मिश्रण करते हुए, कृतज्ञता और आत्मग्लानि के आँसू बहाते हैं। नदियाँ, झील, लहरें और उमड़ती तरंगे, सभी गा रही हैं, सच्चे परमेश्वर के पवित्र नाम की प्रशंसा करती हैं! स्तुतियाँ इतनी स्पष्ट सुनाई देती हैं! शैतान द्वारा पहले भ्रष्ट की गई सभी पुरानी चीज़ों में से प्रत्येक का नवीकरण होगा, परिवर्तन होगा, और एक नई परिस्थिति में प्रवेश होगा ...

यह पवित्र तुरही की आवाज़ है! गौर से सुनो। वह अत्यंत प्यारी सी आवाज़ सिंहासन की आवाज़ है, जो सभी देशों और लोगों के प्रति घोषणा कर रही है, समय आ गया है, निर्णायक अंत आ गया है। मेरी प्रबंधन योजना समाप्त हो गई है। मेरा राज्य पृथ्वी पर खुल कर प्रकट होता है। धरती के राज्य मेरे परमेश्वर के राज्य बन गए हैं। सिंहासन से मेरी सात तुरहियाँ आवाजें करती हैं, और कैसे कैसे चमत्कार होंगे! धरती के कोने-कोने से, हर दिशा से, हिमस्खलन और बिजली के बल के साथ लोग एक साथ लपक कर आएँगे, कुछ समुद्री जहाज से आएँगे, कुछ विमानों में उड़ कर, कुछ हर आकार और माप की कारों में, और कुछ घोड़ों पर सवार होकर आयेंगे। नज़दीक से देखो। ध्यान से सुनो। हर रंग के घोड़ों के ये आरोही, बुलंद हौसलों के साथ, शक्तिशाली और शानदार लगते हैं, मानो वे युद्ध के मैदान में जा रहे हों, मृत्यु के प्रति बेपरवाह हों। घोड़ों की हिनहिनाहट और सच्चे परमेश्वर के लिए लोगों की चीखती पुकारों के बीच न जाने कितने पुरुष, महिलाएं, बच्चे एक पल में खुरों से कुचल दिए जाएँगे, कुछ मारे जाएँगे, कुछ अंतिम श्वास ले रहे होंगे, कुछ क्षत-विक्षत होंगे, कोई भी उनकी देखभाल के लिए न होगा, वे उन्मत्त होकर चीखेंगे, दर्द से चिल्लाएँगे। विद्रोह के पुत्र! क्या ये तुम लोगों के निर्णायक अंत नहीं हैं?

अपनी प्रजा को जो मेरी आवाज़ सुनती है, और हर देश और भूमि से आकर इकट्ठी होती है देख कर मुझे ख़ुशी होती है। सभी लोग, सच्चे परमेश्वर को हमेशा अपनी ज़ुबान पर रखकर, उसकी प्रशंसा करते हैं और खुशी में अनवरत उछलते-कूदते हैं! वे दुनिया को गवाही देते हैं, गरजते पानी जैसी आवाज़ के साथ सच्चे परमेश्वर की गवाही देते हैं। सभी लोग मेरे राज्य में आकर भीड़ लगाएंगे।

मेरी सात तुरहियाँ बजती हैं, सोये हुए लोगों को जगाती हैं! जल्दी उठो, अभी भी समय है। अपने जीवन को देखो! अपनी आँखें खोलो और देखो कि अभी क्या समय हुआ है। तुम क्या चाहते हो? सोचने के लिए क्या रखा है? और चिपके रहने के लिए क्या है? क्या यह हो सकता है कि तुमने मेरे जीवन को पाने के मूल्य, और जिन सभी वस्तुओं से तुम प्यार करते हो और जिनसे चिपके रहते हो उनके मूल्य, के बीच रहे भेद पर विचार नहीं किया है? मनमानी करना, और बेवकूफी भरा व्यव्हार करना बंद करो। इस अवसर को मत गँवाओ। यह मौका फिर से नहीं आएगा! तुरंत ही खड़े हो जाओ, अपनी उमंग को काम में लाने का अभ्यास करो, शैतान की हर साजिश और चाल का भेद जानने और उसे नाकाम करने के लिए विभिन्न तरीक़ों का उपयोग करो,और शैतान पर विजय प्राप्त करो ताकि तुम्हारे जीवन का अनुभव गहरा हो सके, मेरे स्वभाव को तुम जी सको, अपने जीवन को परिपक्व और अनुभवी बना सको, और हमेशा मेरे पदचिन्हों का अनुसरण करो। निराश न होना, कमज़ोर मत बनना, हमेशा कदम-कदम आगे बढ़ते रहना, ठीक इस पथ के अंत तक!

जब सात तुरहियाँ फिर से बजेंगी, तो यह न्याय, विद्रोही पुत्रों के न्याय, सभी राष्ट्रों और सभी लोगों के न्याय के लिए पुकार होगी, और प्रत्येक देश परमेश्वर के सामने आत्मसमर्पण करेगा। परमेश्वर का महिमामय मुख निश्चित रूप से सभी राष्ट्रों और सभी लोगों के सामने दिखाया जाएगा। हर कोई पूरी तरह से आश्वस्त हो जाएगा, सच्चे परमेश्वर को निरंतर चीखकर पुकारेगा। सर्वशक्तिमान परमेश्वर और अधिक महिमामय होगा, और मेरे पुत्र इस महिमा में हिस्सा लेंगे, मेरे साथ राजपद को साझा करेंगे, सभी राष्ट्रों और सभी लोगों का न्याय करेंगे, बुरे को दंडित करेंगे, जो मेरे हैं उन्हें वे बचाएंगे और उन पर दया करेंगे, जिससे राज्य में दृढ़ता और स्थिरता आएगी। सात तुरही की आवाज़ से, बहुत सारे लोगों को बचाया जाएगा, जो निरंतर प्रशंसा के साथ मेरे सामने घुटने टेकने और आराधना करने के लिए लौट आएँगे!

जब सात तुरहियाँ एक बार फिर से बजेंगी, तो यह युग के अंत का समापन गीत होगा, तुरही द्वारा यह शैतान पर जीत का विस्फोटक ऐलान होगा, और पृथ्वी पर राज्य के खुले जीवन की शुरुआत की सलामी होगी! यह इतनी ऊंची आवाज़, यह आवाज़ जो सिंहासन के चारों ओर गूँजती है, तुरही का यह विस्फोट जो स्वर्ग और पृथ्वी को डिगा देता है, मेरी प्रबंधन योजना की विजय का संकेत है, और शैतान का न्याय है, यह इस पुरानी दुनिया के लिए मौत की, अथाह कुंड में गिरने की सज़ा है! तुरही का यह विस्फोट दर्शाता है कि अनुग्रह का द्वार बंद हो रहा है, और यह कि राज्य का जीवन पृथ्वी पर शुरू होगा, जो पूरी तरह से न्यायसंगत है। परमेश्वर उनको बचाता है जो उससे प्रेम करते हैं। एक बार जब वे उसके राज्य में वापस आ जाते हैं, तो धरती पर लोगों को अकाल, महामारी का सामना करना पड़ेगा और परमेश्वर की सात कटोरियाँ, सात विप्पत्तियाँ सिलसिलेवार असर डालेंगी। स्वर्ग और पृथ्वी टल जाएँगे, परन्तु मेरा वचन कभी न टलेगा!

पिछला:छब्बीसवाँ कथन

अगला:उनतालीसवां कथन

शायद आपको पसंद आये