660 विजेताओं का गीत

1

इंसानों के बीच राज्य बनता और फैलता है,

ईश्वर का राज्य किसी चीज़ से नष्ट न हो सके।

ईश्वर के लोग होने के नाते राज्य में,

क्या तुम इंसानों में से एक नहीं?

क्या तुम इंसानी स्थिति से बाहर हो?


जब लोग ईश्वर के नए प्रारंभ-बिंदु के बारे में सुनते,

तो उनकी क्या प्रतिक्रिया होती है?

इंसान की अवस्था तुमने अपनी आँखों से देखी है;

क्या अभी भी इस संसार में

सदा रहने की आशा करते हो?


क्या तुमने अपने आशीष स्वीकारे हैं?

क्या तुमसे किए गए वादों को खोजा है?

रोशनी के मार्गदर्शन में निश्चित ही

तुम अंधकार के बंधन तोड़ोगे।

अंधकार से घिरे होगे तब भी

तुम्हें राह दिखाने वाली रोशनी गायब न होगी।

सृष्टि के तुम स्वामी बनोगे।

विजेता बनकर तुम शैतान के सामने खड़े होगे।


2

ईश्वर अपने लोगों के बीच रहता और चलता है।

सच में उससे प्रेम करोगे, तो उसके आशीष पाओगे।

उसका आज्ञापालन कर तुम आशीष पाओगे,

निश्चित ही उसके राज्य में रहोगे।

ईश्वर को जानने वाले धन्य हैं,

वे उसके राज्य में राज करेंगे।


ईश्वर का अनुसरण करने वाले सभी धन्य हैं,

वे उसका अनुग्रह पाएँगे,

शैतान के बंधनों से बचेंगे।

अहं त्यागकर भी वे आशीष पाएँगे,

वे ईश्वर के होंगे, उसकी प्रचुरता पाएंगे।


क्या तुमने अपने आशीष स्वीकारे हैं?

क्या तुमसे किए गए वादों को खोजा है?

रोशनी के मार्गदर्शन में निश्चित ही

तुम अंधकार के बंधन तोड़ोगे।

अंधकार से घिरे होगे तब भी

तुम्हें राह दिखाने वाली रोशनी गायब न होगी।

सृष्टि के तुम स्वामी बनोगे।

विजेता बनकर तुम शैतान के सामने खड़े होगे।


3

ईश्वर उन्हें याद रखे जो उसके लिए भागें,

और खपते, वह तुम्हें गले लगाएगा;

खुद को अर्पित करो, वो तुम्हें आनंद देगा।

उसके वचनों का रस लो, वो तुम्हें आशीष देगा;

ऐसे लोग उसके राज्य के स्तंभ हैं, उनके पास

प्रचुरता होगी, उनसे बढ़कर कोई न हो सकेगा।


क्या तुमने अपने आशीष स्वीकारे हैं?

क्या तुमसे किए गए वादों को खोजा है?

रोशनी के मार्गदर्शन में निश्चित ही

तुम अंधकार के बंधन तोड़ोगे।

अंधकार से घिरे होगे तब भी

तुम्हें राह दिखाने वाली रोशनी गायब न होगी।

सृष्टि के तुम स्वामी बनोगे।

विजेता बनकर तुम शैतान के सामने खड़े होगे।


जब बड़े लाल अजगर का राज्य ख़तम होगा,

तब तुम ईश्वर की विजय की गवाही दोगे।

सिनिम की भूमि में तुम अडिग खड़े रहोगे।

ईश्वर के आशीष तुम पाओगे,

उस कष्ट के लिए जो सहे तुमने।

और निश्चित ही तुम पूरी कायनात में

ईश्वर की महिमा से चमकोगे,

पूरी कायनात में ईश्वर की महिमा से चमकोगे।


—वचन, खंड 1, परमेश्वर का प्रकटन और कार्य, संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन, अध्याय 19 से रूपांतरित

पिछला: 659 यातनाओं के दौरान सिर्फ़ विजयी लोग अडिग रहते हैं

अगला: 661 परमेश्वर के सच्चे विश्वासी परीक्षाओं में मजबूती से खड़े रह सकते हैं

परमेश्वर का आशीष आपके पास आएगा! हमसे संपर्क करने के लिए बटन पर क्लिक करके, आपको प्रभु की वापसी का शुभ समाचार मिलेगा, और 2024 में उनका स्वागत करने का अवसर मिलेगा।

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें