664 जब परमेश्वर मानवजाति के विश्वास की परीक्षा लेता है

1 जब मैंने मानवजाति के विश्वास को परखा, तो पाया कि किसी भी मनुष्य के पास सच्ची गवाही देने की क्षमता नहीं है, कोई भी अपना सब कुछ अर्पित करने में समर्थ नहीं है; बल्कि, मनुष्य छिपता फिरता है और अपने आपको खुलकर प्रकट करने से इन्कार करता है, मानो कि मैं उसके हृदय को मंत्रमुग्ध कर लूँगा। यहाँ तक कि अय्यूब भी परीक्षा के समय कभी भी स्थिरता से खड़ा नहीं रहा, और न ही उसने पीड़ा के बीच में मधुरता उत्पन्न की। मानवता जो करने में समर्थ है वह है बसंत ऋतु की गर्माहट में हरियाली का एक धुँधला सा संकेत उत्पन्न करना; वह शरद ऋतु की कड़कड़ाती हुई ठण्ड में कभी सदाबहार नहीं रहा है। डील-डौल में अस्थिमय और क्षीण मनुष्य, मेरे इरादों को पूरा नहीं कर सकता है।

2 समस्त मानवता में, ऐसा एक भी व्यक्ति नहीं है जो दूसरों के लिए एक आदर्श बन सकता है, क्योंकि एक दूसरे में बस थोड़े से ही अन्तर के साथ, सभी मनुष्य मुख्य रूप से एक जैसे हैं और एक दूसरे से भिन्न नहीं हैं। इस कारण, यहाँ तक कि मनुष्य आज भी मेरे कार्यों को पूरी तरह जानने में असमर्थ हैं। जब मेरी ताड़ना समस्त मानवजाति के ऊपर उतरती है केवल तभी मनुष्य, अपने आप के लिए अनजान, मेरे कार्यों के बारे में जान लेगा, और मेरे द्वारा कुछ किए बिना अथवा किसी को बाध्य किए बिना, मनुष्य मुझे जान लेगा, और इस प्रकार वह मेरे कार्यों को देखना शुरू करेगा। यह मेरी योजना है, यह मेरे कार्य का वह पहलू है जो प्रकट होता है, और यह वह है जिसे मनुष्य को जानना चाहिए।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचनों के रहस्य की व्याख्या के "अध्याय 26" से रूपांतरित

पिछला: 638 यदि तुम परमेश्वर के न्याय से भाग निकलते हो, तो क्या होगा?

अगला: 997 जब परमेश्वर चरवाहे पर प्रहार करता है

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

Iपूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने,हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें