808 पतरस जानता था परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह

I

बरसों रहा पतरस परमेश्वर का वफ़ादार,

फिर भी दिल उसका नहीं था कभी शिकायती।

अय्यूब तक नहीं था उसके बराबर

युगयुगांतर में संत तो और भी थे पीछे।

न केवल इच्छा की परमेश्वर को जानने की उसने,

बल्कि जाना परमेश्वर को जब रचा षडयंत्र शैतान ने।

बरसों की सेवा, परमेश्वर के हृदय के मुताबिक,

शैतान कर न सका शोषण उसका।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

सबसे अधिक था ज्ञान उसका परमेश्वर के बारे में।

II

पतरस ने अय्यूब की आस्था को अपनाया,

बल्कि और भी कई बातें सीखीं उसने,

जो अय्यूब ने न समझी थीं।

अय्यूब की आस्था महान थी हालाँकि,

आत्मिक जगत का ज्ञान उसका कम था।

कहे उसने वचन बहुत से जो ठीक सच के अनुरूप नहीं थे।

ज्ञान अभी सतही था उसका, पूर्णता में असमर्थ था, असमर्थ था।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

सबसे अधिक था ज्ञान उसका परमेश्वर के बारे में।

III

पतरस सदा आत्मा की समझ को पाने की ताक में था।

आत्मिक जगत की गतिशीलता पर ध्यान था उसका।

न सिर्फ़ समझ पाया वो परमेश्वर की इच्छा को,

बल्कि शैतान की कुछ साज़िशों को भी समझ लिया उसने।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

पतरस जानता था, पतरस जानता था, परमेश्वर को सबसे अच्छी तरह।

सबसे अधिक था ज्ञान उसका परमेश्वर के बारे में।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला: 807 तुम्हें पतरस का अनुकरण करना चाहिए

अगला: 809 पतरस के पथ पर कैसे चलें

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

Iपूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने,हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें