13 एकमात्र सच्चा परमेश्वर हुआ है प्रकट देह में

1

सात गर्जनाएं गूंजती हैं स्वर्ग को हिलाते हुए।

एकमात्र सच्चा परमेश्वर प्रकट हुआ है।

पवित्रात्मा बोल रहा,

दे रहा उसकी गवाही।

उसके वचनों में है अधिकार जिससे

डोलती दुनिया सारी।

मुक्तिदाता लौट आया,

देह में प्रकट हुआ है परमेश्वर।

वो सफ़ेद बादलों पर आया है।

हमने सुनी है वाणी उसकी,

देखा है चेहरा उसका।

मेमने के पीछे चलते हैं,

हम भोज में शामिल होते हैं।

अपना सच्चा दिल परमेश्वर को अर्पण करते हैं।

उसके बोझ के लिए विचारवान हम आगे बढ़ते हैं,

निष्ठा से रोज़ का फ़र्ज़ निभाते हैं।

राज्य की सम्भावना असीमित उज्ज्वल है।

प्रकाश और अतुल आनंद में रहते हैं,

सर्वशक्तिमान परमेश्वर से प्रेम करने वाले।

उसने विजेताओं का एक समूह बनाकर,

काम पूरा कर लिया है, महिमा पा ली है,

और मसीह का राज्य धरती पर प्रकट हुआ है।

2

परमेश्वर का न्याय स्वीकारते हैं हम,

शुद्ध किये जा रहे हैं हम।

राज्य का प्रशिक्षण अब हो चुका है आरम्भ।

बहुत बड़ी आशीष है परमेश्वर का उद्धार पाना।

परमेश्वर के सत्य को हम अमल में लाते हैं,

हम उसके सामने जीते हैं।

परमेश्वर के वचनों के अंदर रहते हैं,

जितना हम उसका वचन पढ़ते,

उतना अधिक सत्य समझते हैं।

परमेश्वर के वचनों की सच्चाई में प्रवेश करते हैं,

हमारे स्वभाव बदल रहे हैं।

असल इंसान जैसे जीते हैं,

हम परमेश्वर की महिमा करते और गवाही देते हैं।

अपना सच्चा दिल परमेश्वर को अर्पण करते हैं।

उसके बोझ के लिए विचारवान हम आगे बढ़ते हैं,

निष्ठा से रोज़ का फ़र्ज़ निभाते हैं।

राज्य की सम्भावना असीमित उज्ज्वल है।

प्रकाश और अतुल आनंद में रहते हैं,

सर्वशक्तिमान परमेश्वर से प्रेम करने वाले।

उसने विजेताओं का एक समूह बनाकर,

काम पूरा कर लिया है, महिमा पा ली है,

और मसीह का राज्य धरती पर प्रकट हुआ है।

हम सब तुम्हारी इच्छा के प्रति विचारवान हैं,

हे सर्वशक्तिमान परमेश्वर।

ख़ुशी-ख़ुशी हम सब कुछ त्यागना चाहते हैं।

तुम्हारे लिए अपने को खपाना चाहते हैं।

राज्य की सम्भावना असीमित उज्ज्वल है।

प्रकाश और अतुल आनंद में रहते हैं,

सर्वशक्तिमान परमेश्वर से प्रेम करने वाले।

उसने विजेताओं का एक समूह बनाकर,

काम पूरा कर लिया है,

महिमा पा ली है,

और मसीह का राज्य धरती पर प्रकट हुआ है।

धरती पर प्रकट हुआ है,

धरती पर प्रकट हुआ है।

पिछला: 11 ईश्वर का राज्य धरती पर आया है

अगला: 14 पूरब में प्रकट होते अंत के दिनों के मसीह

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें