11 ईश्वर का राज्य धरती पर आया है

पूर्व से बिजली चमकी है।

मानव-पुत्र देह में प्रकट हुआ है,

सत्य बताने और सबको बचाने।

ईश्वर का राज्य धरती पर आया है!

1

ईश्वर, जिसका युगों से था इंतज़ार

और जिसे हर समय खोजा गया,

पूरब से प्रकट होकर, धरती पर चमका है।

धार्मिकता का सूर्य, इंसान की आशा,

हाँ, ईश्वर पूरब में प्रकट हुआ है।

ईश्वर जिसके लिए तुम तरसे,

ईश्वर जिसकी मैंने आशा की,

देह बनकर हमारे सामने प्रकट हुआ है,

सत्य व्यक्त करता और प्रकाश को लाता है।

ईश्वर आ गया है, अब वो राजा बन गया है।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

2

धर्मी और प्रतापी, प्यारा, दयालु ईश्वर,

देह बनकर नम्रता से इंसानों में छिपा है।

उसने लोगों का न्याय और शुद्धि करने

सत्य व्यक्त किए हैं।

उसने विजेताओं का एक समूह बनाया है चीन में।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

सर्वशक्तिमान ईश्वर प्रकट होकर,

इंसानों के बीच कार्य करे।

वो इंसान के लिए अनंत जीवन का मार्ग लाया है।

सब लोग समर्पण करते, सब देश पूजते हैं।

ईश्वर का राज्य धरती पर आया है!

पवित्र तुरही बजी है,

ईश्वर की प्रकट हुई है धार्मिकता।

शुद्ध हुई अधार्मिकता,

आपदा ने शैतान का राज्यबर्बाद कर दिया।

तब, जश्न! सभी लोग उल्लास करते हैं।

इंसान के लिए सहस्राब्दी राज्य प्रकट हुआ है।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

सभी देश पूजते, उमंग से धरती भर गई है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

दुनिया का राज्य अब मसीह का राज्य है।

पिछला: 10 मसीह का राज्य इंसानों के बीच साकार हुआ है

अगला: 13 एकमात्र सच्चा परमेश्वर हुआ है प्रकट देह में

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें