119 ईमानदार इंसान बनने में इतना अद्भुत आनंद है

1

सच को जानकर मेरी आत्मा आज़ाद होती है, आनंद मिलता है।

परमेश्वर के वचनों पर मैं शक नहीं करता, मुझमें बेहद निष्ठा है।

निराशावाद नहीं है मुझमें, न ही मायूसी का पैगाम हूँ।

अपने फ़र्ज़ में वफादार हूँ, न कि जिस्म का गुलाम हूँ।

मेरी काबिलियत चाहे कम हो, पर मेरे दिल में सच्चाई है।

मैं उसूलों पर चलता हूँ, और परमेश्वर की इच्छा निभाता हूँ।

साफदिल और ईमानदार हूँ मैं, उजाले में रहा करता हूँ।

सच का अभ्यास करता हूँ, परमेश्वर का हुक्म बिना छल के मानता हूँ।

ओ ईमानदार लोगो, आओ और दिल खोल कर बातें करो।

परमेश्वर से मोहब्बत करने वाले सब लोगो, अच्छे दोस्तों की तरह मिलो।

जिन लोगों को सत्य से प्रेम है वे भाई-बहन हैं।

ओ खुशनुमा लोगो, परमेश्वर की प्रशंसा में नाचो गाओ।

2

परमेश्वर के वचनों को खाते और पीते,

सच पर संगति करते हुए मैं ख़ुशी में सराबोर हूँ।

अक्सर परमेश्वर से बातें और प्रार्थना करते

उच्च कोटि के आनंद में भाव विभोर हूँ।

सच जानने से मिलता है साधना का रास्ता,

मुझे नहीं करनी पड़ती विवशताओं की अधीनता।

परमेश्वर का साथ पाकर और उनके वचनों में जी कर हूँ खुशकिस्मत।

सभी सांसारिक बंधनों से छूट जाना है परमेश्वर की इनायत।

ओ ईमानदार लोगो, आओ और दिल खोल कर बातें करो।

परमेश्वर से मोहब्बत करने वाले सब लोगो, अच्छे दोस्तों की तरह मिलो।

जिन लोगों को सत्य से प्रेम है वे भाई-बहन हैं।

ओ खुशनुमा लोगो, परमेश्वर की प्रशंसा में नाचो गाओ।

3

एक दूसरे से प्रेम करने में कितना आनंद है,

साथ मिलकर काम करने में कितना आनंद है।

परमेश्वर के वचन अनुसार जियें, आत्मा के काम का आनंद लें।

हमारे जीवन का दायरा बढ़े जैसे हम सत्य की वास्तविकता में प्रवेश करें।

ओ ईमानदार लोगो, आओ और दिल खोल कर बातें करो।

परमेश्वर से मोहब्बत करने वाले सब लोगो, अच्छे दोस्तों की तरह मिलो।

जिन लोगों को सत्य से प्रेम है वे भाई-बहन हैं।

ओ खुशनुमा लोगो, परमेश्वर की प्रशंसा में नाचो गाओ।

ओ ईमानदार लोगो, आओ और दिल खोल कर बातें करो।

परमेश्वर से मोहब्बत करने वाले सब लोगो, अच्छे दोस्तों की तरह मिलो।

जिन लोगों को सत्य से प्रेम है वे भाई-बहन हैं।

ओ खुशनुमा लोगो, परमेश्वर की प्रशंसा में नाचो गाओ।

पिछला: 118 स्वर्गिक राज्य की प्रजा

अगला: 120 परमेश्वर का प्रेम सदा हमारे साथ है

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें