105 परमेश्वर के सामने जी कर मैं बहुत खुश हूँ

भाइयों और बहनों, पमेश्वर के वचनों का आनंद लो

और पमेश्वर के सामने आनंद से जिओ।


I

परमेश्वर के वचनों पर सहभागिता के माध्यम से,

सत्य के बारे में हमारा ज्ञान वास्तविक बन जाता है।

धार्मिक अवधारणाओं को दूर किया जाता है,

और हम देखते हैं कि परमेश्वर के वचन सत्य हैं।

हम मेमने के विवाह के भोज में शामिल हो सकते हैं,

हमारे दिल अतुलनीय रूप से आनंदित हैं।

परमेश्वर के न्याय का अनुभव कर,

हम निर्मल हुए हैं और व्यावहारिक परमेश्वर को जानते हैं।

हम सिर्फ़ रस्में मानते थे, हमारा विश्वास बहुत अस्पष्ट था।

अब अंतिम दिनों का मसीह अपने वचनों को कहता है;

यह आपूर्ति देता है, हमारी चरवाही करता है और वास्तविक है।

सत्य को जानकर, हम मुक्त हुए हैं, परमेश्वर के सामने जीते हैं।

भाइयों और बहनों, पमेश्वर के वचनों का आनंद लो

और पमेश्वर के सामने आनंद से जिओ।


II

सत्य पर सहभागिता कर,

हम अपने घमंड, फ़रेब और गैर-इंसानियत को जान पाते हैं।

हम खुद से नफ़रत करते हुए, देहासक्ति को त्यागते हैं।

हम परमेश्वर को प्रसन्न करने और सत्य का

अभ्यास करने का निश्चय करते हैं।

नेक होने के नाते, हम कथनी और करनी को एक करते हैं;

हम सभी के दिलों को, अहा, कितना मधुर लगता है!

शैतान की कोई चाल नहीं, न ही कोई झूठ होगा।

हम एक होकर, सत्य को मानते हैं,

परमेश्वर के वचनों में प्रवेश करते हैं।

हम एक दूसरे को चाहते और मदद करते हैं,

सत्य के अनुसार काम करते हैं,

परमेश्वर से प्रेम करने का अभ्यास करते हैं,

अपने कर्तव्य निभाते हैं।

परमेश्वर का गुणगान करने और उसकी गवाही देने,

हम एक मानव सदृश जीवन जीते हैं।

भाइयों और बहनों, पमेश्वर के वचनों का आनंद लो

और पमेश्वर के सामने आनंद से जिओ।


III

परमेश्वर के वचन यातना और कठिन समय में हमारा मार्गदर्शन करते हैं।

निर्दयी बड़े लाल अजगर को परमेश्वर ने विफल किया है।

परमेश्वर की सर्वशक्तिमत्ता और बुद्धि देखकर,

हम सब हमेशा परमेश्वर का पूरे विश्वास के साथ अनुसरण करेंगे।

सभी तरह के परिक्षणों और कठिनाइयों से होकर,

अब हम परमेश्वर को जानते हैं और उसके द्वारा बचाए गए हैं।

यह परमेश्वर की दया है कि हम

मसीह की पीड़ा, राज्य और धैर्य में सहभागी होते हैं।

परमेश्वर की प्रजा ज्यों-ज्यों अधिक परिपक्व होगी,

त्यों-त्यों बड़ा लाल अजगर लुढ़केगा।

परमेश्वर के वचन पूरी तरह सच हो गए हैं।

मसीह का राज्य धरती पर है, हम सदा परमेश्वर की स्तुति करेंगे।

भाइयों और बहनों, पमेश्वर के वचनों का आनंद लो

और परमेश्वर के सामने आनंद से जिओ।

पिछला: 102 परमेश्वर हमारी आत्माओं को एक बार फिर प्रेरित करे

अगला: 245 मैं जीवन भर केवल परमेश्वर से प्रेम करना चाहता हूँ

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें