403 विश्वास की वजह से ही तुमने पाया इतना कुछ

1

न्याय की इस प्रक्रिया में ही तुम परमेश्वर की सृष्टि की अंतिम मंज़िल देखते हो,

सृष्टिकर्ता से प्रेम करना है ये देखते हो।

जीत के कार्य में ही तुम समझते हो इंसान के जीवन को पूरी तरह,

तुम देखते हो परमेश्वर के हाथ को।

2

जीत के इस कार्य में ही तुम समझते हो इंसान शब्द के असली मायने,

तुम पाते हो इंसानी जीवन की सही राह,

तुम देखते हो परमेश्वर का धार्मिक स्वभाव।

जीत के इस कार्य में ही तुम देखते हो परमेश्वर का सुंदर महिमामय चेहरा,

जानते हो इंसान की उत्पति के बारे में,

समझते हो इंसान का अजर अमर इतिहास।

आस्था शब्द की वजह से किया जाता है तुम्हारा न्याय, पाते हो बहुत शाप तुम,

लेकिन तुम्हारे पास है सच्चा विश्वास

और सबसे सच्ची, असली और बहुमूल्य चीज़।

सच्चा विश्वास, सच्चा विश्वास, विश्वास की वजह से।

3

जीत के इस कार्य में ही तुम जान पाते हो मनुष्य जाति के पूर्वजों

और मनुष्य जाति के भ्रष्टाचार के उद्गम को,

पाते हो वे आशीष, दुर्भाग्य जिसके हो तुम लायक।

जीत के इस कार्य में ही तुम पाते हो आनंद और आराम के साथ-साथ

अनंत ताड़ना, अनुशासन और मनुष्य जाति के लिए सृष्टिकर्त्ता की फटकार।

आस्था शब्द की वजह से किया जाता है तुम्हारा न्याय, पाते हो बहुत शाप तुम,

लेकिन तुम्हारे पास है सच्चा विश्वास

और सबसे सच्ची, असली और बहुमूल्य चीज़।

सच्चा विश्वास, सच्चा विश्वास, विश्वास की वजह से।

क्या यह सब तुम्हारे थोड़े-से विश्वास की वजह से नहीं?

इन चीज़ों को प्राप्त करने के बाद क्या तुम्हारा विश्वास बढ़ा नहीं?

क्या तुमने पाया नहीं बहुत कुछ?

विश्वास की वजह से, विश्वास की वजह से।

विश्वास की वजह से, विश्वास की वजह से।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'विजय के कार्य की आंतरिक सच्चाई (1)' से रूपांतरित

पिछला: 402 जिनके पास सच्चा विश्वास होता है उन्हीं को परमेश्वर की स्वीकृति मिलती है

अगला: 404 सबसे महत्वपूर्ण चीज़ जो परमेश्वर के विश्वासियों को हासिल करना चाहिये

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें