402 जिसके पास है सच्चा विश्वास, उसे मिलता है परमेश्वर का आशीष

I

जब मूसा ने पत्थर पर मारा और जल का सोता फूट पड़ा,

वरदान था यह यहोवा का, जो विश्वास के कारण मिला था।

जब दाऊद ने यहोवा की महिमा में संगीत बजाया,

उसका दिल था खुशियों से भरा, यह विश्वास के कारण था,

यह विश्वास के कारण था, यह विश्वास के कारण था।

जब अय्यूब ने खो दिए अपने मवेशी और संपत्ति सारी, संपत्ति सारी,

और उसकी देह थी छालों से ढकी, यह विश्वास के कारण था।

और फिर भी वह सुन पा रहा था यहोवा की वाणी,

और फिर भी महसूस कर रहा था महिमा प्रभु की, यह विश्वास के कारण था,

यह विश्वास के कारण था, यह विश्वास के कारण था।

जब पतरस चला यीशु के पीछे और क्रूस पर लटके हुए, दी महान गवाही,

यह विश्वास के कारण था।

जब यूहन्ना ने मानवपुत्र का महिमामय रूप देखा

और देखा दर्शन अंतिम दिनों का, यह विश्वास के कारण था।

जब गैर यहूदी ये जान पाते हैं, कि परमेश्वर देह में लौट आया है

अपना कार्य करने, यह भी विश्वास के कारण ही है।

परमेश्वर के वचन से बहुतों पर प्रहार होता है,

वे बचाए जाते हैं, पाते हैं दिलासा, यह विश्वास के कारण ही है।


II

और यह सब है तेरे विश्वास के कारण।

तूने देख ली है परमेश्वर की बुद्धि और सुन लिए हैं उसके वचन।

तूने महसूस किया है उसका कार्य और लाभ किया है ग्रहण।

शायद तू माने कि विश्वास न होने से,

मुक्त हो सकेगा न्याय और ताड़ना से।

मगर विश्वास न होने से तू खो देगा ताड़ना और प्रेम सर्वशक्तिमान का,

और रचयिता को देखने का मौका।

मानवता का आरम्भ कभी न जान सकेगा,

और जीवन का महत्व मरने के बाद भी न समझेगा।

न समझ सकेगा सृष्टिकर्ता के काम

और मानवता की रचना के बाद किये उसने जो काम वो भी न जान सकेगा।

रचे गए इंसान होने के नाते, क्या तैयार है तू

अन्धकार में गिर पड़ने को और अनंत दंड भोगने को, और अनंत दंड भोगने को?


"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला: 401 परमेश्वर में विश्वास का महत्व बहुत गहरा है

अगला: 403 विश्वास की वजह से ही तुमने पाया इतना कुछ

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

Iपूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने,हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें