404 सबसे महत्वपूर्ण चीज़ जो परमेश्वर के विश्वासियों को हासिल करना चाहिये

1 परमेश्वर ने लोगों को अपना जीवन मुक्त रूप से दिया है, जिससे ये उनका जीवन बन गया है। तो फिर लोगों ने परमेश्वर से क्या पाया है? परमेश्वर का जीवन है! इस प्रकार, मनुष्य जो परमेश्वर से प्राप्त करता है वह अनमोल है, और जबकि परमेश्वर सभी चीज़ों में सबसे अनमोल इस वस्तु मनुष्य को प्रदान कर रहा है, तो परमेश्वर को कुछ भी हासिल नहीं होता है; सबसे बड़ी लाभार्थी मानवजाति है। मनुष्य सबसे बड़ा लाभ उठाते हैं; वे सबसे बड़े लाभार्थी हैं।

2 अब, जब हम मनुष्यों को मिले इतने बड़े लाभ की तुलना उनकी कल्पना में परमेश्वर द्वारा किये गए वादों या उनके द्वारा इच्छित सौभाग्य से करते हैं, तो मानवजाति को किसकी ज़रूरत सबसे अधिक है? कौन-सी चीज़ अधिक महत्वपूर्ण है : आशीष पाने की तुम्हारी इच्छा या परमेश्वर द्वारा तुम्हें दिये गए जीवन को सही तरीके से जीना? कौन-सी चीज़ तुम्हें परमेश्वर के समक्ष आने और सचमुच उसकी आराधना करने की बेहतर अनुमति देती है, और कौन-सी चीज़ है जिससे परमेश्वर तुमसे नफ़रत न करे, तुम्हारा त्याग न करे या तुम्हें दंड न दे? कौन-सी चीज़ तुम्हें हमेशा के लिए जीने में मदद कर सकती है?

3 सिर्फ़ परमेश्वर से आने वाले जीवन को स्वीकार करके ही तुम अपना जीवन बचा सकते हो। अगर तुम इस जीवन को हासिल करते हो, तो तुम्हारा जीवन अंतहीन होगा; यही शाश्वत जीवन है। अगर किसी व्यक्ति ने परमेश्वर से आने वाले जीवन को हासिल नहीं किया है, तो उसे निश्चित रूप से मरना ही होगा, उसका जीवन ख़त्म किया जा सकता है। क्या ख़त्म किये जा सकने वाले जीवन को शाश्वत जीवन कहा जा सकता है? तुम परमेश्वर से शाश्वत जीवन हासिल करते हो। क्या आशीष पाने की तुम्हारी इच्छा इसका स्थान ले सकती है? क्या लोगों की आशीष पाने की इच्छा उन्हें मरने से बचा सकती है?

— "अंत के दिनों के मसीह की बातचीत के अभिलेख" में 'परमेश्‍वर की प्रबंधन योजना का सर्वाधिक लाभार्थी मनुष्‍य है' से रूपांतरित

पिछला: 403 विश्वास की वजह से ही तुमने पाया इतना कुछ

अगला: 405 क्या यह परमेश्वर में सच्चा विश्वास है?

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें