सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

क्या अपने लिये परमेश्वर की आशाओं को महसूस किया है तुम लोगों ने?

I

परमेश्वर ने किसे जाँचा है इस असीम जगत में?

परमेश्वर के आत्मा के वचनों को निजी तौर पर सुना है किसने?

कौन है अय्यूब तुम में? कौन है पतरस तुम में?

क्यों किया है इतनी बार अय्यूब और पतरस का ज़िक्र परमेश्वर ने?

क्या समझ लिया है अपने लिये परमेश्वर की आशाओं को तुमने?

मनन पर और ज़्यादा वक्त देना चाहिये तुम्हें, देना चाहिये तुम्हें।

II

कितने ही खोजते हैं अंधेरों में। कितने ही प्रार्थना करते हैं मुश्किलों में।

कितने भूखे, ठिठुरते लोग, देखते हैं परमेश्वर को उम्मीद से।

कितनों को जकड़ा है शैतान ने।

कितने हैं जो जानते नहीं किस ओर मुड़ें।

कितने ही दग़ा करते हैं परमेश्वर से ख़ुशियों में।

कितने ही एहसानफ़रामोश हैं। कितने ही शामिल हैं शैतान की साज़िशों में।

कौन है अय्यूब तुम में? कौन है पतरस तुम में?

क्यों किया है इतनी बार अय्यूब और पतरस का ज़िक्र परमेश्वर ने?

क्या समझ लिया है अपने लिये परमेश्वर की आशाओं को तुमने?

मनन पर और ज़्यादा वक्त देना चाहिये तुम्हें, देना चाहिये तुम्हें।

कौन है अय्यूब तुम में? कौन है पतरस तुम में?

क्यों किया है इतनी बार अय्यूब और पतरस का ज़िक्र परमेश्वर ने?

क्या समझ लिया है अपने लिये परमेश्वर की आशाओं को तुमने?

मनन पर और ज़्यादा वक्त देना चाहिये तुम्हें, देना चाहिये तुम्हें।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:परमेश्वर की इंसान को चेतावनी

अगला:स्वभाव में बदलाव पवित्र आत्मा के काम से अलग नहीं हो सकता

शायद आपको पसंद आये