111 चल रहा हूँ पथ पर राज्य की ओर मैं

चल रहा हूँ राज्य की ओर,

पढ़ रहा हूँ वचन परमेश्वर के, करता हूँ मैं आदर उनका।

ओह, इतने सार्थक वचन,

बेहद सच्चे, नक्श हो गये दिल पर मेरे।

हे परमेश्वर, फ़िक्र है तुम्हें,

कहीं धोखा न दे दे, टुकड़े न कर दे शैतान मेरे।

राह दिखाई तुम्हारे वचनों ने मुझे,

सच्चा जीवन दिया, इस पथ पर पहुँचाया मुझे।


दुष्ट चलन के पीछे भागते हुए, मैं आंधी-बरसात के बीच दौड़ते रहने के सालों के बारे में सोचता हूँ

जब मैंने सारी इंसानी समानता खो दी थी।

भटकता था जगत में,

नाउम्मीद में, दिल में अंधेरा लिये।

यह परमेश्वर के वचनों का न्याय और प्रकाशन था,

जिसने मुझे जगत की बुराई और अंधेरा को स्पष्ट रूप से देखने दिया।

तुम्हीं थे मुझे बचाया जिसने!

तुम्हारे वचनों में लिपटा, बढ़ा, मज़बूत हुआ मैं।


प्रकट करते हैं वचन परमेश्वर के सत्य,

भ्रष्टता और कुरूपता मेरी।

ख़ुदगर्ज़, लालची, अहंकारी,

झूठ से ग्रसित, लगभग अमानुषी!

गिरता हूँ परमेश्वर के कदमों में,

पश्चाताप में डूबा, होता हूँ समर्पित उसके न्याय को।

सत्य की खोज का,

परमेश्वर के वचनों पर अमल का,

और इंसान के समान जीने का संकल्प करता हूँ।


राज्य की ओर चल रहा हूँ,

ख़ुश हूँ मैं, सुसमाचार साझा कर रहा हूँ।

राज्य का मार्ग असाधारण रूप से कठिन और खतरनाक है, और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा गिरफ्तारी और उत्पीड़न दिन-ब-दिन अधिक बर्बर हो रहे हैं।

विश्वास और साहस के बिना, मैं एक भी कदम आगे नहीं बढ़ पाऊंगा; परमेश्वर के वचन मुझे प्रोत्साहित करते हैं और मुझे शक्ति देते हैं।

परमेश्वर का मार्गदर्शन मेरे साथ है, इसलिए मैं मजबूत कदमों के साथ आगे बढ़ता हूँ, निष्ठापूर्वक उसका अंत तक अनुसरण करता हूँ।

पिछला: 110 जीवन में सही राह पर चलना

अगला: 112 सृजित प्राणी के हृदय की वाणी

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर धर्मोपदेश और संगति अंत के दिनों के मसीह—उद्धारकर्ता का प्रकटन और कार्य राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें