309 क्या तुम्हें मसीह के प्रति सच्चा विश्वास और प्रेम है?

1

तुम सब पाना चाहो ईश्वर से कृपा और पुरस्कार;

ईश्वर में विश्वास से इंसान की होती आशा यही,

क्योंकि हर कोई लगा है ऊँची चीज़ें पाने में,

कोई नहीं रहना चाहता पीछे दूसरों से। इंसान तो है बस ऐसा ही।

स्वर्ग के परमेश्वर की चापलूसी की कोशिश करते तुममें से कई,

फिर भी तुम्हारी निष्ठा, खरापन ईश्वर के प्रति

है कम उससे जो है खुद के प्रति।

2

यूँ तो तुम बनते हो मसीह के प्रति आज्ञाकारी,

पर न करते विश्वास, न उससे प्रीत तुम्हारी।

तुम अपने दिल के अज्ञात परमेश्वर पर विश्वास करते;

तुम उस ईश्वर से प्यार करते जिसे तुम रात-दिन चाहते,

पर तुम जिससे कभी ना मिले।

विश्वास है ईमान और भरोसा,

प्रेम है तुम्हारे हृदय में आदर और प्रशंसा और कभी जुदा न होना।

पर आज के मसीह में तुम्हारा विश्वास और उससे प्यार

बहुत कम पड़ता है, हाँ वो बहुत कम पड़ता है।

3

तुम्हारा विश्वास है बहुत कम, और मसीह के लिए प्यार कुछ नहीं है।

ना तुम जानो उसका स्वभाव और जानो नहीं सार,

तो तुम कैसे करते उसमें विश्वास और उससे प्यार,

उस पे तुम्हारे विश्वास का यथार्थ कहाँ है?

क्या तुम सच में उससे प्यार कर रहे हो?

क्या तुम सच में उससे प्यार कर रहे हो?

विश्वास है ईमान और भरोसा,

प्रेम है तुम्हारे हृदय में आदर और प्रशंसा और कभी जुदा न होना।

पर आज के मसीह में तुम्हारा विश्वास और उससे प्यार

बहुत कम पड़ता है, हाँ वो बहुत कम पड़ता है।

जब विश्वास की बात आती है,

तो तुम कैसे उसमें विश्वास रखते हो? विश्वास रखते हो?

जब प्यार की बात आती है,

तो तुम किस तरह उससे प्यार करते हो? प्यार करते हो?

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'पृथ्वी के परमेश्वर को कैसे जानें' से रूपांतरित

पिछला: 308 कहाँ है तुम्हारा सच्चा विश्वास?

अगला: 310 तुममें मसीह के प्रति अविश्वास के कई तत्व हैं

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें