88 परमेश्वर का प्रेम सच्चा और असली है

1

कौन सत्य अभिव्यक्त करता और उद्धार देता है, ताकि मनुष्य उम्मीद रख सके?

कौन अनंत जीवन का मार्ग लाते हुए अंत के दिनों के न्याय का कार्य करता है?

देहधारी परमेश्वर का प्रकटन और कार्य सारे विश्व को झकझोर देता है।

हम उसके सामने उन्नत किए जाते हैं, ताकि मेमने के भोज में शामिल हो सकें।

परमेश्वर के वचनों का आनंद लेते हुए और सत्य को समझते हुए हमने परमेश्वर का मुखमंडल देखा है।

उसके वचनों के न्याय का अनुभव करके हमारे पास मानवजाति की भ्रष्टता के सत्य का स्पष्ट दृष्टिकोण है।

न्याय, ताड़ना, परीक्षण और शुद्धिकरण हमारे भ्रष्ट स्वभाव शुद्ध करते हैं।

हम सत्य-जीवन हासिल करते हैं और नए लोगों की सदृश्ता को जीते हैं।

2

कौन हमारे साथ चलता है, विपत्ति में लगातार हमारा मार्गदर्शन करते हुए?

शैतान, बड़े लाल अजगर पर विजय पाने के लिए कौन वचनों के द्वारा हमारी अगुआई करता है?

ये सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचन हैं जिनमें अधिकार और जीवन-शक्ति है,

जो हमारी आस्था और शक्ति बढ़ाते हैं, ताकि हम विपत्ति में गवाही दे सकें।

यह परमेश्वर है, जो बड़े लाल अजगर के शैतानी शहर के हमारे कठिन रास्ते पर हमारा साथ देता है;

पौ फटने से पहले के अंधकार में उसके वचन हमारे साथ हैं।

जीवन और मृत्यु के बीच के पल में, शैतान के उपद्रव के दौरान, हम परमेश्वर के वचनों के अधिकार और शक्ति का स्वाद लेते हैं,

और हम जानते हैं कि परमेश्वर बहुत प्यारा है; हम सदा उससे प्रेम करेंगे और उसकी गवाही देंगे।

हमारे लिए परमेश्वर का प्रेम कितना वास्तविक है।

यह केवल उसके अनुग्रह के कारण है कि हम उसका न्याय और शुद्धिकरण हासिल कर पाते हैं।

हमें सत्य-जीवन देने के लिए हम परमेश्वर को धन्यवाद देते हैं और उसकी स्तुति करते हैं।

हम निष्ठा से अपने कर्तव्य निभाएँगे और परमेश्वर के प्रेम का ऋण चुकाने के लिए सत्य का अनुसरण करेंगे।

पिछला: 87 परमेश्वर का प्रेम इंसानों के बीच है

अगला: 89 परमेश्वर की मनोहरता सदा हमारे दिल में है

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें