919 परमेश्वर की सृष्टि को उसके अधिकार का पालन करना चाहिये

1

प्रचंड आग है परमेश्वर जो नहीं करता अपराध सहन।

दख़लंदाज़ी करे या आलोचना करे उसके काम और वचन की,

ये हक नहीं है इंसान को, चूँकि उसने बनाया है इंसान को,

उनका पालन करना चाहिये इंसान को, इंसान को।

परमेश्वर प्रभु है, सृजन का प्रभु है,

अपने लोगों पर शासन करने, प्रयोग में लाता है अपने अधिकार को।

हर प्राणी को इसका पालन करना चाहिये,

वो जो कहता है उसे श्रद्धा से करना चाहिये,

कोई तर्क या विरोध नहीं करना चाहिये।

2

हालाँकि निर्लज्ज हो, ढीठ हो तुम,

नाफ़रमानी करते हो परमेश्वर के वचनों की तुम लोग,

तुम्हारी विद्रोहशीलता को सहता है वो,

मल में कुलबुलाते भुनगों से बेपरवाह,

काबू में रखकर अपने क्रोध को,

काम करता रहेगा वो, काम करता रहेगा वो।

3

परमेश्वर की इच्छा की ख़ातिर

अपने कथनों की पूर्णता तक, अपने आख़िरी पल तक,

उन चीज़ों को सहता है, जिनसे नफ़रत करता है परमेश्वर।

परमेश्वर प्रभु है, सृजन का प्रभु है,

अपने लोगों पर शासन करने, प्रयोग में लाता है अपने अधिकार को।

हर प्राणी को इसका पालन करना चाहिये,

वो जो कहता है उसे श्रद्धा से करना चाहिये,

कोई तर्क या विरोध नहीं करना चाहिये, नहीं करना चाहिये, नहीं करना चाहिये।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'जब झड़ते हुए पत्ते अपनी जड़ों की ओर लौटेंगे, तो तुम्हें अपनी की हुई सभी बुराइयों पर पछतावा होगा' से रूपांतरित

पिछला: 918 सृष्टिकर्ता के अधिकार और पहचान का अस्तित्व साथ-साथ है

अगला: 920 सभी चीज़ें परमेश्वर के अधिकार-क्षेत्र के अधीन होंगी

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें