102 परमेश्वर हमारी आत्माओं को एक बार फिर प्रेरित करे

1

हे परमेश्वर, धरती के लोगों पर,

तुम्हारा आत्मा बरसाए अनुग्रह,

ताकि मेरा दिल पूरी तरह हो जाए तुम्हारा,

ताकि मेरी आत्मा हो सके प्रेरित,

अपनी आत्मा और दिल में मैं देख सकूं तुम्हारी मनोरमता,

धरती के लोग देख सकें तुम्हारी सुंदरता।

हे परमेश्वर, तुम्हारा आत्मा एक बार फिर प्रेरित करे हमारी आत्माएं।

हमारी आत्माओं को करे प्रेरित, ताकि हमारा प्रेम रहे हमेशा,

बदले न कभी।

हां, हमें करे एक बार फिर प्रेरित, ओह,

हमें करे एक बार फिर प्रेरित, हे परमेश्वर।

हमारी आत्माओं को करे प्रेरित, ताकि हमारा प्रेम रहे हमेशा,

बदले न कभी, हे परमेश्वर!

2

परमेश्वर पहले लेता है हमारे दिल का इम्तेहान।

वह प्रेरित करेगा हमारी आत्माएं,

जब हम अपना दिल उसमें उंडेल देंगे।

बस आत्मा में देख सकते हैं हम परमेश्वर है महान,

वो है प्यारा और सर्वोच्च।

ये है मनुष्य में आत्मा का मार्ग। ये है मनुष्य में आत्मा का मार्ग।

हे परमेश्वर, तुम्हारा आत्मा एक बार फिर प्रेरित करे हमारी आत्माएं।

हमारी आत्माओं को करे प्रेरित, ताकि हमारा प्रेम रहे हमेशा,

बदले न कभी।

हां, हमें करे एक बार फिर प्रेरित, ओह,

हमें करे एक बार फिर प्रेरित, हे परमेश्वर।

हमारी आत्माओं को करे प्रेरित, ताकि हमारा प्रेम रहे हमेशा,

बदले न कभी, हे परमेश्वर!

पिछला: 101 यदि परमेश्वर ने मुझे बचाया न होता

अगला: 103 नए जीवन का यशगान करो

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें