135 परमेश्वर के लिए तड़प

1

परमेश्वर को जाते देख मेरा दिल टूटता है।

मेरा मन अतीत को दोहराता है, उसकी शिक्षाएँ मेरे कानों में गूँजती हैं।

दुखी न हो, निराश न हो।

हमारी जुदाई के समय मेरे दिल के पास कहने के लिए कई शब्द हैं।

हे परमेश्वर, हे परमेश्वर, प्रिय परमेश्वर!

हम फिर कब मिलेंगे?

हम तुम्हारे वचन एक बार फिर कब सुनेंगे?

प्रिय परमेश्वर!

2

मैं परमेश्वर के लिए लालायित हूँ, मेरे दिल में मलाल है।

मेरे अंदर गुनाहों का कर्ज है, उनकी भरपाई मुश्किल है।

परमेश्वर के वचन न्याय करते हैं, वे मुझे दिलासा देते हैं, मुझे प्रेरित करते हैं।

वह धैर्यपूर्वक सिखाता है, हर कदम पर मेरा मार्गदर्शन करता है।

हे परमेश्वर, हे परमेश्वर, प्रिय परमेश्वर!

हमारा दिल तुम्हारे लिए बहुत तरसता है।

हम फिर से तुम्हारे साथ रहने के लिए लालायित हैं।

प्रिय परमेश्वर!

3

मैं परमेश्वर के अनुग्रह के लिए लालायित हूँ और उसके लिए तरसती हूँ।

मैं उसके साथ खतरों से गुजरते हुए उसके प्रेम को महसूस करती हूँ।

कठिनाई और शुद्धिकरण में परमेश्वर के वचन मेरे साथ हैं।

इसलिए मैं अपनी गवाही में दृढ़ रह सकती हूँ, शैतान पर विजयी होती हूँ।

जो समय हमने साथ बिताया, मैं उसके बारे में बात कर सकती हूँ, और कभी नहीं रुकती।

फिर भी मेरी आँखें आँसुओं से भरी हैं, और कुछ कहने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं।

मुझे परमेश्वर का उपदेश याद है; वह मेरे दिल में है।

पृथ्वी के छोर तक, समुद्र की गहराई तक,

सफर कितना भी मुश्किल या चुनौतीभरा हो,

मैं अपना लक्ष्य पूरा करने से नहीं कतराऊँगी।

हे परमेश्वर, हे परमेश्वर, प्रिय परमेश्वर!

हमारा दिल तुम्हारे लिए बहुत तरसता है।

हम हमेशा तुमसे प्यार करेंगे, तुम्हारे रहेंगे।

प्रिय परमेश्वर!

पिछला: 134 काश, मैं सदा तुम्हारे साथ रह पाऊँ

अगला: 136 काश मैं हर दिन परमेश्वर के साथ होती

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें