474 सत्य के लिए तुम्हें सब कुछ त्याग देना चाहिए

1

सच्चाई के रास्ते पर मुश्किलों का सामना करना होगा तुम्हें।

देना होगा ख़ुद को पूरी तरह तुम्हें।

सहना होगा अपमान, गले लगानी होगी और पीड़ा।

हासिल करने के लिए ज़्यादा सच्चाई करना होगा ऐसा।

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।

2

एक शांतिपूर्ण पारिवारिक जीवन के लिए, सच्चाई को तुम छोड़ना नहीं,

सत्यनिष्ठा और गरिमा बनाकर रखनी होगी तुम्हें।

कुछ पल के सुखों के लिए इसे छोड़ न देना।

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।

3

सिर्फ़ आनंद के लिए सभी सत्यों को छोड़ न देना।

गर बिना उद्देश्य घिनौने तरीके से आगे बढ़ोगे तुम,

तो क्या जीवन बर्बाद नहीं होगा तुम्हारा?

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'पतरस के अनुभव: ताड़ना और न्याय का उसका ज्ञान' से रूपांतरित

पिछला: 473 केवल सत्य ही इंसान के दिल को सुकून दे सकता है

अगला: 475 सबसे सार्थक जीवन

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें