474 सत्य के लिए तुम्हें सब कुछ त्याग देना चाहिए

I

सच्चाई के रास्ते पर मुश्किलों का सामना करना होगा तुम्हें।

देना होगा ख़ुद को पूरी तरह तुम्हें।

सहना होगा अपमान, गले लगानी होगी और पीड़ा।

हासिल करने के लिए ज़्यादा सच्चाई करना होगा ऐसा।

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।


II

एक शांतिपूर्ण पारिवारिक जीवन के लिए,

सच्चाई को तुम छोड़ना नहीं,

सत्यनिष्ठा और गरिमा बनाकर रखनी होगी तुम्हें।

कुछ पल के सुखों के लिए इसे छोड़ न देना।

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।


III

सिर्फ़ आनंद के लिए सभी सत्यों को छोड़ न देना।

गर बिना उद्देश्य घिनौने तरीके से आगे बढ़ोगे तुम,

तो क्या जीवन बर्बाद नहीं होगा तुम्हारा?

जो भी सुंदर है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

जो भी अच्छा है उसे पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें,

जीवन की सार्थक राह पाने की कोशिश करनी होगी तुम्हें।

सच्चाई के लिए सभी सुखों को त्याग दो, देह को त्याग दो।


"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला: 472 सत्य जीवन का सबसे ऊंचा सूत्र है

अगला: 475 सबसे सार्थक जीवन

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें