60 अंत के समय का परमेश्वर का धार्मिक न्याय मनुष्य को वर्गीकृत करता है

युग-सामापन के अपने अंतिम कार्य में,

ईश्वर का स्वभाव ताड़ना देना,

अधार्मिक को प्रकट करना और

सबके सामने लोगों का न्याय करना है,

सच्चे ईश-प्रेमियों को पूर्ण बनाना है।

युग का अंत कर सके ये स्वभाव।


आ चुके हैं अंत के दिन,

सारी सृष्टि वर्गीकृत की जाएगी

उसकी प्रकृति और किस्म के अनुसार।

इसी पल दिखाए ईश्वर इंसान को

उसकी नियति और मंज़िल।

इंसान की अवज्ञा और अधार्मिकता

उजागर न की जा सके बिना न्याय के।

ताड़ना और न्याय से ही

सृष्टि की नियति दिखेगी,

इंसान का असली रंग प्रकट किया जाएगा।

बुरे के साथ बुरा,

अच्छे के साथ अच्छा होगा।

बुरे को दंडित किया जाएगा,

अच्छे को इनाम दिया जाएगा।

इंसान को किस्म के अनुसार बाँटा जाएगा,

वो ईश्वर के प्रभुत्व में आएगा।


इंसान की भ्रष्टता अपने चरम पर है,

उसकी अवज्ञा भयंकर है।

ईश्वर का धार्मिक स्वभाव,

ताड़ना और न्याय ही,

पूरी तरह बदल सके इंसान को,

दुष्ट को उजागर कर

दंडित करे अधार्मिक को।


ऐसे स्वभाव में निहित हैं

युग के मायने।

हर नए युग के कार्य के लिए

ईश्वर अपना स्वभाव प्रकट करता है,

वो इसे यूँ ही या बेमायने

प्रकट नहीं करता है।

ताड़ना और न्याय से ही

सृष्टि की नियति दिखेगी,

इंसान का असली रंग प्रकट किया जाएगा।

बुरे के साथ बुरा,

अच्छे के साथ अच्छा होगा।

बुरे को दंडित किया जाएगा,

अच्छे को इनाम दिया जाएगा।

इंसान को किस्म के अनुसार बाँटा जाएगा,

वो ईश्वर के प्रभुत्व में आएगा।


अगर इंसान की नियति दिखाने वाले

अंत के दिनों में भी,

ईश्वर करुणा और प्रेम बरसाये

न्याय न करे, पर क्षमा करे,

इंसान चाहे कितने भी पाप करे,

तो कब समाप्त होगी

ईश्वर की प्रबंधन योजना,

कब होगा इंसान का नियति से सामना?

ताड़ना और न्याय से ही

सृष्टि की नियति दिखेगी,

इंसान का असली रंग प्रकट किया जाएगा।

बुरे के साथ बुरा,

अच्छे के साथ अच्छा होगा।

बुरे को दंडित किया जाएगा,

अच्छे को इनाम दिया जाएगा।

इंसान को किस्म के अनुसार बाँटा जाएगा,

वो ईश्वर के प्रभुत्व में आएगा।

धार्मिक न्याय ही इंसान को

किस्म के अनुसार बांट सके,

और एकदम नए क्षेत्र में ला सके,

इस तरह ईश्वर का धार्मिक स्वभाव

इस युग का अंत करेगा।


— 'वचन देह में प्रकट होता है' से रूपांतरित

पिछला: 59 न्याय और ताड़ना काम छुटकारे के काम से गहरा है

अगला: 61 अंत के दिनों में परमेश्वर के न्याय के कार्य के मायने

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर धर्मोपदेश और संगति अंत के दिनों के मसीह—उद्धारकर्ता का प्रकटन और कार्य राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें