532 हटा दिया जाएगा उन्हें जो नहीं करते परमेश्वर के वचनों का अभ्यास

I

तुम्हारे स्वभाव में तब्दीली लाना है

परमेश्वर के काम और वचन का अभिप्राय।

महज़ इसे समझाना या पहचान कराना

मकसद नहीं है उसका।

इतना काफ़ी नहीं है, और यही सब-कुछ नहीं है।

तुम ग्रहण कर सको अगर,

तो आसान है समझना परमेश्वर के वचन।

क्योंकि इंसानी ज़बान में लिखे हैं अधिकतर वचन।

जो परमेश्वर चाहता है कि तुम जानो और करो,

वो है ऐसा जो सामान्य इन्सान समझ सकता।

इंसान परमेश्वर के वचनों में, हर तरह के सत्य का अनुभव करे।

वो विस्तार से खोजे और जाँचे इसे।

जो भी मिल जाए उसे लेने का इंतज़ार न करे,

वरना मुफ़्तख़ोर के सिवा कुछ न होगा वो।

जानता हो परमेश्वर के वचन के सत्य को, मगर अमल में न लाए वो,

तो इसे प्रेम नहीं करता वो, आख़िरकार हटा दिया जाएगा उसको।

II

परमेश्वर जो कहता है अब साफ़ है।

ये पारदर्शी और सुबोध है।

बहुत-सी चीज़ों पर ध्यान दिलाता है परमेश्वर

जो सोची नहीं हैं इंसान ने।

इंसान के अलग-अलग हालात ज़ाहिर करता है वो।

सबको अंगीकार करते हैं परमेश्वर के वचन।

पूर्णमासी के चाँद की रोशनी की तरह साफ़ हैं वो।

बहुत से मामलों को समझ सकता है इंसान।

परमेश्वर के वचन को अमल में लाने की

कोशिश करे इंसान।

बस यही कमी है असल में इंसान में।

इंसान परमेश्वर के वचनों में, हर तरह के सत्य का अनुभव करे।

वो विस्तार से खोजे और जाँचे इसे।

जो भी मिल जाए उसे लेने का इंतज़ार न करे,

वरना मुफ़्तख़ोर के सिवा कुछ न होगा वो।

जानता हो परमेश्वर के वचन के सत्य को, मगर अमल में न लाए वो,

तो इसे प्रेम नहीं करता वो, आख़िरकार हटा दिया जाएगा उसको।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला: 531 मनुष्य को बचाना बहुत मुश्किल है

अगला: 533 जो भी सत्य का अभ्यास नहीं करता वो हटा दिया जाएगा

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें