829 क्या तुम सचमुच परमेश्वर की गवाही देने का आत्मविश्वास रखते हो?

1

हालाँकि तुम्हारा विश्वास बहुत सच्चा है पर कोई ईश्वर की व्याख्या न कर सके,

जो असलियत दिखे तुम्हें उसकी गवाही तुममें से कोई दे न सके।

इस वक्त, तुममें से अधिकतर अनदेखा करते अपने फर्ज़ को,

भागते देह की चीज़ों के पीछे, संतुष्ट करते, मज़ा लेते देह का।

बस ज़रा-सा सत्य है तुममें।

जो कुछ देखा उसकी गवाही कैसे दोगे?

क्या तुम्हें भरोसा है, तुम ईश्वर के गवाह बन सकते हो?

2

गर एक दिन आता है, जब तुम गवाही न दे पाओ

उन सारी चीज़ों की जो आज देखीं तुमने,

तो तुम सृजित प्राणी का कार्य खो चुके होगे;

तुम अपने जीने की वजह खो दोगे।

तुम इंसान होने के लायक नहीं होगे।

कह सकते हैं तुम अब इंसान नहीं रहे हो।

3

ईश्वर ने अपार काम किया है तुम पर,

चूँकि तुम सीख नहीं रहे अभी, कुछ जानते नहीं, काम बेकार में करते,

जब ईश-कार्य को फैलाने का वक्त आएगा,

तुम ताकोगे अवाक, बेकार होकर।

क्या तुम सदा के लिए पापी नहीं बन जाओगे?

जब ऐसा होगा, तो क्या तुम बुरी तरह नहीं पछताओगे?

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'परमेश्वर के बारे में तुम्हारी समझ क्या है?' से रूपांतरित

पिछला: 828 क्या तुम बड़े लाल अजगर के सामने परमेश्वर की गवाही दे सकते हो?

अगला: 830 अय्यूब और पतरस की तरह गवाह बनो

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

610 प्रभु यीशु का अनुकरण करो

1पूरा किया परमेश्वर के आदेश को यीशु ने, हर इंसान के छुटकारे के काम को,क्योंकि उसने परमेश्वर की इच्छा की परवाह की,इसमें न उसका स्वार्थ था, न...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें