53 सभी देशों के लोगों को जीत लेगा परमेश्वर

1

सृष्टि के समय, तय कर चुका था परमेश्वर,

होगा समाप्त उसका काम धरती पर

अंतिम युग में, उसी समय, काम उसके प्रकट होंगे आकाश में।

लोगों से वो अपने कामों को मनवायेगा, और "न्याय पीठ" के आगे,

साबित होंगे कर्म उसके, ताकि स्वीकारें लोग उन्हें,

पूरी धरती पर झुकेंगे लोग उसके आगे।


सभी देशों के लोगों को जीत लेगा परमेश्वर,

ख़ूँख़ार जानवरों को वश में करेगा परमेश्वर।

धरती के इंसानों की तरह, परास्त होकर

झुकेगा परमेश्वर के आगे बड़ा लाल अजगर।

धरती पर परमेश्वर के सारे शत्रु जीत लिये जायेंगे,

स्वर्ग के उसके सारे बैरी परास्त हो जायेंगे।

यही उसकी योजना है, योजना है,

यही उसके सभी कर्मों का निरालापन है।


2

इस समय, वो लग जायेगा ऐसे उद्यम में,

जो नहीं हुआ पहले कभी किसी युग में।

आज से वो अपने कर्मों को

साफ़ कर देगा कदम-दर-कदम, दर-कदम, कदम-दर-कदम, दर-कदम,

ताकि समाज के हर वर्ग में मान्य और

साबित हो जाये, उसकी बुद्धिमत्ता, अथाहपन।


सभी देशों के लोगों को जीत लेगा परमेश्वर,

ख़ूँख़ार जानवरों को वश में करेगा परमेश्वर।

धरती के इंसानों की तरह, परास्त होकर

झुकेगा परमेश्वर के आगे बड़ा लाल अजगर।

धरती पर परमेश्वर के सारे शत्रु जीत लिये जायेंगे,

स्वर्ग के उसके सारे बैरी परास्त हो जायेंगे।

यही उसकी योजना है, योजना है,

यही उसके सभी कर्मों का निरालापन है।


3

मान्य होंगे कर्म परमेश्वर के, जीवन में हर जगह।

यही पल होगा जब पायेगा सारी महिमा वो धरती पर।

यही पल होगा जब प्रकट होगा वो सामने इंसानों के।

यही पल होगा जब वो नहीं रहेगा छिपकर।

पहुँचे नहीं कर्म परमेश्वर के चरम पर। है कार्य उसका प्रगति पर।

आयेगा वो पल जब पहुँचेगा कार्य उसका शिखर पर।

यही पल होगा जब अपना कार्य पूरा करेगा परमेश्वर।

यही पल होगा जब ये काम पहुँचेगा पूर्णता पर।


सभी देशों के लोगों को जीत लेगा परमेश्वर,

ख़ूँख़ार जानवरों को वश में करेगा परमेश्वर।

धरती के इंसानों की तरह, परास्त होकर

झुकेगा परमेश्वर के आगे बड़ा लाल अजगर।

सभी देशों के लोगों को जीत लेगा परमेश्वर,

ख़ूँख़ार जानवरों को वश में करेगा परमेश्वर।

धरती के इंसानों की तरह, परास्त होकर

झुकेगा परमेश्वर के आगे बड़ा लाल अजगर।

धरती पर परमेश्वर के सारे शत्रु जीत लिये जायेंगे,

स्वर्ग के उसके सारे बैरी परास्त हो जायेंगे।

यही उसकी योजना है, योजना है,

यही उसके सभी कर्मों का निरालापन है।

यही उसकी योजना है, योजना है,

यही उसके सभी कर्मों का निरालापन है।


—वचन, खंड 1, परमेश्वर का प्रकटन और कार्य, संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन, अध्याय 42 से रूपांतरित

पिछला: 52 स्तुति करो परमेश्वर की वह विजेता बनकर लौटा है

अगला: 54 अंत के दिनों का मसीह लाया है राज्य का युग

परमेश्वर का आशीष आपके पास आएगा! हमसे संपर्क करने के लिए बटन पर क्लिक करके, आपको प्रभु की वापसी का शुभ समाचार मिलेगा, और 2024 में उनका स्वागत करने का अवसर मिलेगा।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें