27 सर्वशक्तिमान परमेश्वर ही है जो हमें बचाता है

1

इंसान को बचाने के लिए सत्य कौन व्यक्त करता है?

सफ़ेद सिंहासन पर बैठकर न्याय कौन करता है?

वह सर्वशक्तिमान परमेश्वर है जिसने अंत के दिनों में देहधारण किया है।

वह इंसानियत के दरवाज़े पर खटखटाने के लिए वचन कहता है।

वह हमें जगत से दूर ले जाता है,

और हमें शैतान की भ्रष्टता से बचाता है।

सत्य को समझकर, हम शुद्ध होते हैं और प्रकाश में रहते हैं।

हमारी बगल में परमेश्वर के होने पर, परमेश्वर का साथ मिलने पर, हमारा जीवन सचमुच ख़ुशनुमा होता है।

कौन है जो हमें सत्य और जीवन देता है?

कौन है जो जगत को रोशनी और जीवन देता है?

वह प्यारा सर्वशक्तिमान परमेश्वर है, प्यारा सर्वशक्तिमान परमेश्वर है।

वह हर दिन हमारे बीच कार्य करता है।

वह रूबरू आकर हमारी रखवाली और सिंचन करता है।

हम ख़ुशनसीब हैं जो उसके सच्चे प्रेम का अनुभव करते हैं।

हम पूरी आस्था के साथ परमेश्वर का अनुसरण करते हैं।

हम अपना फ़र्ज़ निभाते हैं, परमेश्वर की गवाही देते हैं, उसका गुणगान करते हैं।

2

किसके वचन पैनी तलवार की तरह हमारे दिलों को वेध देते हैं?

किसका प्रेम इंसान के लिये परम शुद्ध, परम सुंदर है?

वह सर्वशक्तिमान परमेश्वर है जिसने अंत के दिनों में देहधारण किया है।

उसके वचन इंसान के भ्रष्टता के सार और मूल को उजागर करते हैं।

हम परमेश्वर के वचनों के न्याय और परीक्षणों का अनुभव करते हैं।

हम देखते हैं कि परमेश्वर का स्वभाव धार्मिक और पवित्र है।

हमारे भ्रष्ट स्वभाव शुद्ध होते हैं, और हम फिर से इंसान नज़र आते हैं।

हम परमेश्वर के प्रेम का अनुभव करते हैं, हम उसकी स्तुति करते हैं।

कौन है जो इंसान को शुद्ध करता है, उसे बचाता है?

वह कौन है जो इंसान के लिए एक सुंदर मंज़िल लाता है?

वह सर्वशक्तिमान परमेश्वर है, जिसका कार्य पूरी तरह बुद्धिमता और विवेक से भरा है।

वह शैतान को हराता है, अपने लोगों को पूर्ण करता है और महिमा हासिल करता है।

हम बहुत भाग्यशाली हैं कि उद्धार पाते हैं!

परमेश्वर के सर्वशक्तिमान वचनों की गवाही देना कितना अद्भुत है!

हम पूरे विश्वास के साथ राज्य सुसमाचार का प्रचार-प्रसार करते हैं।

हम अपना कर्तव्य अच्छी तरह निभाते हैं, हम परमेश्वर की गवाही देते हैं और हम परमेश्वर से हमेशा प्रेम करेंगे!

पिछला: 26 सर्वशक्तिमान परमेश्वर का गुणगान करो

अगला: 28 परमेश्वर की महिमा गाते, हम मिलकर आनंद मनाते

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें