816 परमेश्वर के लिए गवाही देना मानव का कर्तव्य है

1

परमेश्वर तुम लोगों को जीवन देता है;

ये एक उपहार है जिसे तुम उससे प्राप्त करते हो।

और इसलिए तुम्हारा कर्तव्य है कि तुम उसके लिए गवाही दो।

परमेश्वर देता है अपनी महिमा, अपना जीवन जो इस्राएलियों के पास नहीं था।

और इसलिए तुमको अपना जीवन और यौवन, उसे समर्पित करना चाहिए।

तुम्हें परमेश्वर की, महिमा मिल गई है, इसलिए तुम्हें परमेश्वर का साक्ष्य देना है।

यही विहित है।

2

ये तुम्हारा सौभाग्य है, तुम्हें परमेश्वर की महिमा दी गयी है।

और इसलिए उसकी महिमा की गवाही देना तुम्हारा कर्तव्य है।

यदि तुम परमेश्वर में मानते हो, सिर्फ़ आशीर्वाद पाने के लिए,

उसका काम सार्थक नहीं होगा,

और तुम अपने कर्तव्य को पूरा नहीं करोगे, पूरा नहीं करोगे।

तुम्हें परमेश्वर की, महिमा मिल गई है, इसलिए तुम्हें परमेश्वर का साक्ष्य देना है।

यही विहित है, यही विहित है।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'तुम विश्वास के बारे में क्या जानते हो?' से रूपांतरित

पिछला: 815 तुम्हें ईश्वर की इच्छा समझनी चाहिए

अगला: 817 परमेश्वर की एकमात्र इच्छा

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें