277 जो परमेश्वर के स्वभाव को भड़काता है उसे अवश्य दंडित किया जाना चाहिए

1

ईश्वर इंसान की सियासत का भागीदार नहीं,

लेकिन किस्मत लिखे वही हर देश, दुनिया और कायनात की।

इंसान की किस्मत और ईश-योजना हैं गहराई से जुड़े।

कोई देश या इंसान ईश्वर के शासन से अलग नहीं।

अपनी किस्मत जानना चाहो तो आओ ईश्वर के सामने।

करो आराधना, अनुसरण उसका, संपन्न बनाएगा तुम्हें वो।

जो उसका विरोध करें, उसे नकारें, तबाह होंगे वो।

2

याद करो जब सदोम को तबाह किया था ईश्वर ने,

जब नमक का खंभा बनी लूत की पत्नी,

याद करो कैसे नीनवे के लोगों ने राख मली, टाट पहना, पश्चात्ताप किया।

अपनी किस्मत जानना चाहो तो आओ ईश्वर के सामने।

करो आराधना, अनुसरण उसका, संपन्न बनाएगा तुम्हें वो।

जो उसका विरोध करें, उसे नकारें, तबाह होंगे वो।

3

यहूदियों को याद करो, जिन्होंने 2000 साल पहले

यीशु को क्रूस पर चढ़ाया। इसके नतीजे याद करो।

निकाले गए वे इस्राएल से, इधर-उधर बिखर गए।

कईयों को मिली मौत, देश उनके तबाह हुए,

कभी न दिखी थी ऐसी तबाही।

ईश्वर को क्रूस पर चढ़ाकर, उसके स्वभाव को भड़काया।

जो किया उन्होंने, उसी का फल पाया।

ईश्वर की निंदा की उन्होंने, उसका दंड तो मिलना ही था।

ये था परिणाम, वो बड़ी तबाही, जो शासक अपने देश, अपने मुल्क पर लाये।

अपनी किस्मत जानना चाहो तो आओ ईश्वर के सामने।

करो आराधना, अनुसरण उसका, संपन्न बनाएगा तुम्हें वो।

जो उसका विरोध करें, उसे नकारें, तबाह होंगे वो।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'परमेश्वर संपूर्ण मानवजाति के भाग्य का नियंता है' से रूपांतरित

पिछला: 276 मानव जाति के भाग्य की ओर ध्यान दो

अगला: 278 कोई ताकत आड़े आ नहीं सकती उस लक्ष्य के जो हासिल करना चाहता है परमेश्वर

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें