111 परमेश्वर छ: हज़ार साल की प्रबंधन योजना का शासक है

1

परमेश्वर अपना काम ख़ुद करता है।

वही अपने काम को गति देता है। वही अपने काम को अंजाम देता है।

वही अपने काम की योजना बनाता है।

वही अपने काम का प्रबंधन करता है,

और वही अपने काम को सफल बनाता है।

जैसा कि बाइबल में लिखा है: परमेश्वर ही आदि है, परमेश्वर ही अंत है;

परमेश्वर ही बोनेवाला है, परमेश्वर ही काटने वाला है।

परमेश्वर ही आदि है, परमेश्वर ही अंत है;

परमेश्वर ही बोनेवाला है, परमेश्वर ही काटने वाला है।

जो कुछ भी उसके प्रबंधन के काम से जुड़ा है,

उस काम को वो अपने ही हाथों से करता है।

2

परमेश्वर ही शासक है छ: हज़ार सालों की प्रबंधन योजना का।

कोई नहीं कर सकता परमेश्वर का कार्य उसके सिवा।

सबकुछ परमेश्वर के अधिकार में है इसलिये,

कोई नहीं है उसके काम को, अंजाम तक जो ला सके।

सबकुछ परमेश्वर के अधिकार में है इसलिये,

कोई नहीं है उसके काम को, अंजाम तक जो ला सके,

अंजाम तक जो ला सके।

चूँकि जगत उसने बनाया, अपनी रोशनी में जीने के लिये,

वो ही सारी दुनिया की अगवाई करेगा।

चूँकि जगत उसने बनाया, अपनी रोशनी में जीने के लिये,

वो ही सारी दुनिया की अगवाई करेगा।

अपनी योजना की कामयाबी की ख़ातिर,

वो ही सारे युग का समापन करेगा।

वो ही सारे युग का समापन करेगा।

वो ही सारे युग का समापन करेगा।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'देहधारण का रहस्य (1)' से रूपांतरित

पिछला: 110 ईश्वर के कार्य के तीन चरणों की अंदरूनी कहानी

अगला: 112 परमेश्वर आरम्भ है और अंत भी

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें