40 विश्व का पतन हो रहा है! बेबीलोन गतिहीन है!

1

ईश्वर के दिन के आने का सब उत्सव मनाते,

और स्वर्गदूत इंसानों के बीच घूमते।

जब शैतान परेशान करता, वे ईश्वर-जन की मदद करते।

अपनी स्वर्गिक सेवा से।

स्वर्गदूत ठगे नहीं जाते शैतान के हाथों

इंसानी दुर्बलताओं के कारण; बल्कि पाते हैं

ज़्यादा अनुभव मानव-जीवन का, कोहरे के पार

जब अंधकार की ताकत हमला करती।


सब ईश्वर के नाम तले झुकते, कोई नहीं करता विरोध खुलकर।

स्वर्गदूतों के काम के कारण, मानव ईश्वर का नाम स्वीकारता,

सब उसके काम की धारा में आते।


विश्व का पतन हो रहा है! बेबीलोन गतिहीन है!

कैसे न होती बर्बाद धार्मिक दुनिया?

विश्व का पतन हो रहा है! बेबीलोन गतिहीन है!

कैसे न होती बर्बाद धार्मिक दुनिया धरती पर ईश्वर के अधिकार से?


2

ईश्वर की अवज्ञा, विरोध कौन कर सकता?

क्या धर्म-शास्त्री, धार्मिक नौकरशाह?

या शासक, सत्ताधारी, धरती पर सत्ताधारी?

या फिर स्वर्गदूत कर सकते?


कौन नहीं मनाता उत्सव ईश्वर के पूर्ण देह का?

कौन अविरल स्तुति नहीं करता ईश्वर की?

कौन नहीं है आनंदित सदा?


विश्व का पतन हो रहा है! बेबीलोन गतिहीन है!

कैसे न होती बर्बाद धार्मिक दुनिया?

विश्व का पतन हो रहा है! बेबीलोन गतिहीन है!

कैसे न होती बर्बाद धार्मिक दुनिया धरती पर ईश्वर के अधिकार से?


—वचन, खंड 1, परमेश्वर का प्रकटन और कार्य, संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन, अध्याय 22 से रूपांतरित

पिछला: 39 परमेश्वर लाया है इंसान को नए युग में

अगला: 41 विश्व का पतन हो रहा है, राज्य आकार ले रहा है

परमेश्वर का आशीष आपके पास आएगा! हमसे संपर्क करने के लिए बटन पर क्लिक करके, आपको प्रभु की वापसी का शुभ समाचार मिलेगा, और 2024 में उनका स्वागत करने का अवसर मिलेगा।

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें