मनुष्य की अंतर्निहित पहचान और उसका मूल्य : उनका स्वरूप कैसा है?

तुम लोग कीचड़ से अलग किये गए थे और हर हाल में, तुम सब उसी मैल से बने थे जिसे कीचड़ के बीच से उठाया गया था, गंदे और परमेश्वर द्वारा घृणित थे। तुम लोग शैतान के थे और कभी उसके द्वारा कुचले और दूषित किये गये थे। इसीलिए यह कहा जाता है कि तुम सब कीचड़ से निकाले गए थे और तुम लोग पवित्र से कहीं दूर, वे गैर-मानवीय वस्तुएँ हो जो काफी समय से शैतान के कपट के लक्ष्य थे। यह तुम सब का सबसे उपयुक्त आंकलन है। तुम्हें पता होना चाहिए कि तुम सब मछली और झींगे जैसी वांछनीय वस्तुओं के विपरीत मूल रूप से रुके हुए पानी और कीचड़ में पाई जाने वाली गन्दगी थे, क्योंकि तुम सब से आनंद देने वाली कोई चीज़ नहीं मिल सकती है। इसे साफ़-साफ़ कहें तो, तुम लोग हीन सामाजिक वर्ग के सबसे नीच जानवर हो, सूअरों और कुत्तों से भी बदतर जानवर हो। सच कहूँ तो, तुम सब को इस तरह से संबोधित करना अतिरेक या अतिशयोक्ति नहीं हैं; बल्कि यह मुद्दे को सरल बना देता है। तुम सभी को ऐसे शब्दों से संबोधित करना वास्तव में तुम्हें सम्मान देने का एक तरीका है। तुम लोगों की अंतर्दृष्टि, बोलचाल, मनुष्यों के रूप में आचरण और कीचड़ में तुम्हारी स्थिति सहित तुम्हारी ज़िंदगी के हर पहलू, यह साबित करने के लिए पर्याप्त हैं कि तुम लोगों की पहचान "असामान्य" है।

पिछला: मनुष्य का सार और उसकी पहचान

अगला: जो लोग सीखते नहीं और अज्ञानी बने रहते हैं : क्या वे जानवर नहीं हैं?

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

स्वयं परमेश्वर, जो अद्वितीय है V

परमेश्वर की पवित्रता (II)आज, भाइयो और बहनो, आओ हम एक भजन गाएँ। जो तुम लोगों को पसंद हो और जिसे तुम लोग नियमित रूप से गाते हो, उसे चुन लो।...

सफलता या विफलता उस पथ पर निर्भर होती है जिस पर मनुष्य चलता है

अधिकांश लोग अपनी भविष्य की मंज़िल के लिए, या अल्पकालिक आनंद के लिए परमेश्वर में विश्वास करते हैं। उन लोगों की बात करें जो किसी व्यवहार से...

अभ्यास (4)

जिस शांति और आनंद के बारे में आज मैं बोलता हूँ, वे वैसे नहीं हैं, जैसे तुम विश्वास करते और समझते हो। तुम सोचा करते थे कि शांति और आनंद का...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें