639 परमेश्वर द्वारा इन लोगों के चुने जाने का महान अर्थ

1

इस धारा के व्यक्ति के रूप में, तुम सबको वास्तव में ईश्वर की

महान योजना का, उसकी पूरी प्रबंधन योजना का,

उद्देश्य जानना चाहिए,

तथ्य जानो जो वो पहले ही पूरा कर चुका,

उसने क्यों लोगों के एक समूह को चुना,

इसके लक्ष्य और अर्थ क्या हैं,

और ईश्वर तुममें क्या पाना चाहता है।

बड़े लाल अजगर की भूमि में,

ईश्वर ने साधारण लोगों के एक समूह को ऊँचा उठाया है,

कई तरह से उनका परीक्षण लेते, पूर्ण करते हुए।

उसने अनगिनत वचन कहे और कार्य किए,

सेवा के लिए कई वस्तुएँ भेजते हुए।

परमेश्वर के कार्य का अर्थ महान है,

तुम लोग अब भी नहीं समझ सकते हो इसे पूरी तरह से।

2

परमेश्वर ने जो कार्य तुम लोगों पर किया है उसे साधारण न समझो।

ईश्वर ने आज जो दिखाया है पर्याप्त है वो,

विचारने और समझने के लिए।

गर तुम लोग अच्छी तरह समझते हो इसे,

ज़्यादा गहराई से इसका अनुभव करोगे।

और सिर्फ़ इसी तरह से अपने जीवन में प्रगति कर सकते हो।

बड़े लाल अजगर की भूमि में,

ईश्वर ने साधारण लोगों के एक समूह को ऊँचा उठाया है,

कई तरह से उनका परीक्षण लेते, पूर्ण करते हुए।

उसने अनगिनत वचन कहे और कार्य किए,

सेवा के लिए कई वस्तुएँ भेजते हुए।

परमेश्वर के कार्य का अर्थ महान है,

तुम लोग अब भी नहीं समझ सकते हो इसे पूरी तरह से।

3

लोग जो समझ सकते हैं और कर रहे हैं अभी वो बहुत कम है।

ये ईश्वर के प्रयोजनों को संतुष्ट, नहीं कर सकता पूरी तरह से।

ये मनुष्य की अपूर्णता है, वो अपना कर्तव्य निभाने में विफल है।

यही कारण है कि जो परिणाम

अब तक प्राप्त होना चाहिए था नहीं हो पाया है।

बड़े लाल अजगर की भूमि में,

ईश्वर ने साधारण लोगों के एक समूह को ऊँचा उठाया है,

कई तरह से उनका परीक्षण लेते, पूर्ण करते हुए।

उसने अनगिनत वचन कहे और कार्य किए,

सेवा के लिए कई वस्तुएँ भेजते हुए।

परमेश्वर के कार्य का अर्थ महान है,

तुम लोग अब भी नहीं समझ सकते हो इसे पूरी तरह से, पूरी तरह से।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'वास्तविकता पर अधिक ध्यान केंद्रित करो' से रूपांतरित

पिछला: 638 यदि तुम परमेश्वर के न्याय से भाग निकलते हो, तो क्या होगा?

अगला: 640 तुमने महान आशीषों का आनंद लिया है

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें