758 आशीषित हैं वो जो करते हैं परमेश्वर से प्रेम

I

जो करें परमेश्वर से प्रेम, दे सकते वही उसकी गवाही,

पा सकते हैं वही उसका आशीष, पा सकते हैं वही उसकी प्रतिज्ञा।

जो करें परमेश्वर से प्रेम होते हैं वही उसके विश्वासपात्र,

जो करें परमेश्वर से प्रेम होते हैं वही उसके विश्वासपात्र,

साझा कर सकते हैं मिलकर वही उसका आशीष।

बस वही लोग जी सकते हैं अनंत काल तक।

जो करते हैं सच में, सच में परमेश्वर से प्रेम,

जीते हैं वही सबसे ज़्यादा मूल्य और अर्थ के साथ।

बस वही होते हैं परमेश्वर के सच्चे विश्वासी।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

जो करें परमेश्वर से प्रेम मुक्त घूमते धरती पर।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

उसके गवाह घूमते हैं पूरे ब्रह्माण्ड में।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

II

जो सच में करें परमेश्वर से प्रेम,

वही दे सकते हैं अपना सब कुछ परमेश्वर के कार्य के लिए।

घूम सकते हैं वो बिना विरोधियों के इस दुनिया में,

शासित कर सकते हैं परमेश्वर के सभी लोगों को,

कर सकते हैं पृथ्वी पर राज।

ऐसे लोगों को है प्राप्त परमेश्वर का प्रेम और आशीष।

ऐसे लोग रहेंगे हमेशा परमेश्वर के प्रकाश में,

जीते हैं वही सबसे ज़्यादा मूल्य और अर्थ के साथ।

बस वही होते हैं परमेश्वर के सच्चे विश्वासी।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

जो करें परमेश्वर से प्रेम मुक्त घूमते धरती पर।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

उसके गवाह घूमते हैं पूरे ब्रह्माण्ड में।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

III

ऐसे लोग आते हैं पूरी दुनिया से,

विभिन्न भाषाओं और रंग-रूप के साथ,

ऐसे लोग आते हैं पूरी दुनिया से,

विभिन्न भाषाओं और रंग-रूप के साथ,

पर उनके जीवन का एक ही है अर्थ,

और परमेश्वर के लिए एक ही प्रेम,

सभी देते हैं गवाही साझी आकांक्षा के साथ।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

जो करें परमेश्वर से प्रेम मुक्त घूमते धरती पर।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

उसके गवाह घूमते हैं पूरे ब्रह्माण्ड में।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

जो करें परमेश्वर से प्रेम मुक्त घूमते धरती पर।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

उसके गवाह घूमते हैं पूरे ब्रह्माण्ड में।

आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

आशीषित हैं वो, आशीषित हैं वो जो करें परमेश्वर से प्रेम।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला: 757 आने वाली पीढ़ियों के लिए अय्यूब की गवाही की चेतावनी

अगला: 759 परमेश्वर का सच्चा प्रेम पाने की खोज करनी चाहिए तुम्हें

अब बड़ी-बड़ी विपत्तियाँ आ रही हैं और वह दिन निकट है जब परमेश्वर भलाई का प्रतिफल देगें और बुराई को दण्ड देंगे। हमें एक सुंदर गंतव्य कैसे मिल सकता है?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

Iसमझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग,सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के लिए...

वचन देह में प्रकट होता है न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन परमेश्वर का आगमन हो चुका है, वह राजा है सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन सत्य का अभ्यास करने के 170 सिद्धांत मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ राज्य का सुसमाचार फ़ैलाने के लिए दिशानिर्देश परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें