818 क्या तुम ऐसा इंसान बनने को तैयार हो जो देता है परमेश्वर की गवाही

1

जब पहुँचेगा समापन पर तीन चरणों का कार्य,

तो बनाया जाएगा समूह उनका जो देंगे गवाही परमेश्वर की।

जानेंगे ये तमाम लोग परमेश्वर को और अमल में ला पाएंगे सत्य को।

यही लोग देंगे गवाही परमेश्वर की। होगी इनमें मानवता, होगा इनमें बोध।

जानेंगे परमेश्वर के उद्धार-कार्य के तीन चरणों को ये तमाम लोग।

शायद मिल सकती है जगह इस समूह में तुम सभी को।

या केवल आधों को, या सिर्फ़ कुछ लोगों को।

निर्भर करता है ये तुम्हारी इच्छा पर

और तुम कितनी शिद्दत से अनुसरण करते हो,

और तुम कितनी शिद्दत से अनुसरण करते हो।

2

ये वे लोग हैं जो नुमाइंदे हैं छ: हज़ार साल के

प्रबंधन के कार्य के सघन रूप के।

फल हैं परमेश्वर के कार्य का वे, कार्य का वे।

और है ये जन-समूह, शैतान की चरम पराजय की सबसे मज़बूत गवाही।

फल हैं परमेश्वर के कार्य का वे।

पाएँगे परमेश्वर की प्रतिज्ञा जो देंगे उसकी गवाही।

अंत तक रहेंगे वे, परमेश्वर के सामर्थ्य के संग, धारण करेंगे गवाही।

शायद मिल सकती है जगह इस समूह में तुम सभी को।

या केवल आधों को, या सिर्फ़ कुछ लोगों को।

निर्भर करता है ये तुम्हारी इच्छा पर

और तुम कितनी शिद्दत से अनुसरण करते हो,

और तुम कितनी शिद्दत से अनुसरण करते हो,

और तुम कितनी शिद्दत से अनुसरण करते हो।

— "वचन देह में प्रकट होता है" में 'परमेश्वर के कार्य के तीन चरणों को जानना ही परमेश्वर को जानने का मार्ग है' से रूपांतरित

पिछला: 817 परमेश्वर की एकमात्र इच्छा

अगला: 819 क्या तुम परमेश्वर के कार्य के अर्थ और उद्देश्य को जानते हो?

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

775 तुम्हारी पीड़ा जितनी भी हो ज़्यादा, परमेश्वर को प्रेम करने का करो प्रयास

1समझना चाहिये तुम्हें कितना बहुमूल्य है आज कार्य परमेश्वर का।जानते नहीं ये बात ज़्यादातर लोग, सोचते हैं कि पीड़ा है बेकार:अपने विश्वास के...

सेटिंग

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें