Hindi Sermon Series | Seeking True Faith: देहधारण क्या होता है?

08 दिसम्बर, 2021

दो हजार साल पहले, जब प्रभु यीशु प्रचार करने और कार्य करने के लिए आया, तो यहूदी धर्म के मुख्य याजकों, शास्त्रियों और फरीसियों ने उसे एक सामान्य व्यक्ति करार दे दिया। उन्होंने प्रभु यीशु का विरोध करने, तिरस्कार करने और उसकी निंदा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और अंतत: उसे सूली पर चढ़ाने का जघन्य अपराध किया। आज सर्वशक्तिमान परमेश्वर प्रकट होकर मनुष्य के पुत्र के रूप में कार्य कर रहा है, फिर भी अनेक लोगों को देहधारी परमेश्वर के बारे में ज्ञान नहीं है, वे सर्वशक्तिमान परमेश्वर को एक सामान्य व्यक्ति समझते हैं, सच्चे मार्ग की जाँच से इंकार करते हैं, सर्वशक्तिमान परमेश्वर की निंदा और घोर विरोध करते हैं और ऐसा करके परमेश्वर को फिर से सूली पर चढ़ाने का अपराध कर रहे हैं। इंसान ने परमेश्वर के दोनों देहधारण की निंदा कर उन्हें क्यों नकारा? क्योंकि लोगों में परमेश्वर का ज्ञान नहीं है, सत्य क्या है, उन्हें इसकी समझ नहीं है और देहधारण के गूढ़ रहस्य की समझ तो बिल्कुल ही नहीं है। तो, वास्तव में देहधारण क्या है? देहधारण को हमें कैसे समझना चाहिए? सच्ची आस्था की खोज की इस कड़ी में, हम देहधारण के रहस्य को समझने के लिए एक साथ सत्य की खोज करेंगे।

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें