Hindi Christian Movie "भक्ति का भेद - भाग 2" अंश 4 : परमेश्वर मानवजाति को बचाने के लिए दो बार देहधारण क्यों करते हैं

Hindi Christian Movie "भक्ति का भेद - भाग 2" अंश 4 : परमेश्वर मानवजाति को बचाने के लिए दो बार देहधारण क्यों करते हैं

1335 |09 अगस्त, 2018

अनुग्रह के युग में, देहधारी परमेश्वर को जब सूली पर चढ़ा दिया गया था, तब उन्होंने मनुष्य के पापों को अपने ऊपर लिया था और मानवजाति के छुटकारे का कार्य पूरा किया था। अंत के दिनों में, परमेश्वर ने सत्य व्यक्त करने और मनुष्य का पूरी तरह से शुद्धिकरण और बचाव करने के लिए एक बार फिर से देह धारण की है। परमेश्वर को मनुष्य के उद्धार का कार्य करने के लिए दो बार देहधारण करने की ज़रूरत आख़िर क्यों पड़ती है? सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहते हैं, "प्रथम देहधारण यीशु की देह के माध्यम से मनुष्य को पाप से छुटकारा देने के लिए था, अर्थात्, उसने मनुष्य को सलीब से बचाया, परन्तु भ्रष्ट शैतानी स्वभाव तब भी मनुष्य के भीतर रह गया था। दूसरा देहधारण अब और पापबलि के रूप में कार्य करने के लिए नहीं है परन्तु उन्हें पूरी तरह से बचाने के लिए है जिन्हें पाप से छुटकारा दिया गया था। इसे इसलिए किया जाता है ताकि जिन्हें क्षमा किया गया उन्हें उनके पापों से दूर किया जा सके और पूरी तरह से शुद्ध किया जा सके, और वे स्वभाव में परिवर्तन प्राप्त कर शैतान के अंधकार के प्रभाव को तोड़कर आज़ाद हो जाएँ और परमेश्वर के सिंहासन के सामने लौट आएँ। केवल इसी तरीके से ही मनुष्य को पूरी तरह से पवित्र किया जा सकता है" (वचन देह में प्रकट होता है)। यह वीडियो परमेश्वर के दो देहधारणों के रहस्य को उजागर करता है।

और देखें

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।

साझा करें

रद्द करें