Hindi Christian Testimony Video Based on a True Story | पागलखाने से बाहर

20 नवम्बर, 2021

वह, उसके पति और उसका बेटा एक-साथ खुशहाल जिंदगी जी रहे थे। उनका जीवन शांतिपूर्ण था। लेकिन फिर उसकी आस्था के लिए चीनी कम्युनिस्ट पार्टी ने उसे गिरफ्तार कर सताया। फँसाए जाने के डर से उसके परिवार ने उससे उसकी आस्था छुड़वाने की भरसक कोशिश की, यहाँ तक कि उसे एक मानसिक अस्पताल में भर्ती भी करवा दिया। अस्पताल में रहते हुए उसे कैसे दौर से गुजरना पड़ा, और वहाँ से रिहा होने के बाद उसे अपने सबसे करीबी लोगों के उत्पीड़न का कैसे सामना करना पड़ा?

और देखें

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें