2021 Hindi Christian Testimony Video | ईमानदार इंसान होने का अनुभव

24 सितम्बर, 2021

प्रभु यीशु ने कहा था, "मैं तुम से सच कहता हूँ कि जब तक तुम न फिरो और बालकों के समान न बनो, तुम स्वर्ग के राज्य में प्रवेश करने नहीं पाओगे" (मत्ती 18:3)। एक ईमानदार इंसान होना एक ऐसा सत्य है जिसका ईसाइयों को अवश्य ही अभ्यास करना चाहिए और इसमें प्रवेश करना चाहिए। इसका सीधा संबंध इस बात से है कि क्या व्यक्ति को बचाया जा सकता है और क्या वह स्वर्ग के राज्य में प्रवेश कर सकता है। इस लघु फिल्म में, मुख्य किरदार एक ईमानदार इंसान होने के अपने खुद के कुछ अनुभव साझा करती है। एक बार किसी सभा में किसी विषय पर बात करते हुए अगुआ हर उपस्थित व्यक्ति से अपना दृष्टिकोण साझा करने के लिए कहता है। यह सोचकर कि कहीं वह कुछ गलत न कह बैठे और अगुआ की नजरों में अपनी छवि खराब न कर ले, वह दूसरों की बात सुनने का इंतजार करती है, और फिर वही कहती है जो अधिकांश लोगों ने कहा होता है। पर असल में, वह गलत जवाब साबित होता है। परमेश्वर के वचन पढ़कर, उसे अपने कपट और चालाकी का पता चलता है, समझ आता है कि उसने मानवीय आचरण की आधारभूत चीजें खो दी हैं। वह पछतावे से भर जाती है और सत्य के अभ्यास और ईमानदारी से बोलने पर ध्यान देने लगती है। इसके बाद वह एक ईमानदार इंसान होने में थोड़ा प्रवेश प्राप्त करने में सक्षम हो जाती है।

और देखें

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

साझा करें

रद्द करें