Hindi Christian Testimony Video | स्नेह, सिद्धांतों के आड़े नहीं आना चाहिये

05 फ़रवरी, 2023

वह अपने स्नेह को प्राथमिकता देती है। जब उसने अपनी बहन रूथी को नकारात्मकता और झूठ फैलाते देखा, तब उसे अगुआ को इसकी सूचना देकर इसे रोकने के लिए तुरंत सहभागिता करनी चाहिये थी। लेकिन क्योंकि रूथी ने पहले उसकी मदद की थी, इसीलिए वह चुप ही रही। क्या सिर्फ अपनों के स्नेह की परवाह करना सही है? अपने स्नेह को सिद्धांतों से पहले रखने से क्या होता है? यह जानने के लिए "स्नेह, सिद्धांतों के आड़े नहीं आना चाहिये" देखें।

और देखें

परमेश्वर का आशीष आपके पास आएगा! हमसे संपर्क करने के लिए बटन पर क्लिक करके, आपको प्रभु की वापसी का शुभ समाचार मिलेगा, और 2023 में उनका स्वागत करने का अवसर मिलेगा।

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें