2021 Hindi Christian Testimony Video | परमेश्वर का अनुसरण करने से मुझे क्या रोक रहा है?

27 सितम्बर, 2021

वह कलीसिया की उपयाजिका है। उसकी कलीसिया के दो अगुआओं को एक साथ गिरफ़्तार कर लिया जाता है। गिरफ़्तार हो जाने के डर से वह अपना काम छोड़कर एक दूसरे प्रांत में भाग जाती है, जिससे कलीसिया के कार्य को नुकसान होनेवाला होता है। परमेश्वर के वचनों को पढ़कर वह समझ जाती है कि खतरे से सामना होने पर उसने अपना कर्तव्य छोड़ दिया, एक कायर की तरह ज़िंदगी से चिपकी रही, मौत से डरती रही, उसे सिर्फ खुद को बचाये रखने की फ़िक्र थी, परमेश्वर में उसे न कोई आस्था थी और न ही उसके प्रति वफादारी। पछतावे में डूबकर वह उसके सामने प्रायश्चित करती है। प्रार्थना के जरिये, परमेश्वर के भरोसे, सत्य को खोजकर, वह परमेश्वर की सर्वशक्तिमत्ता और संप्रभुता की समझ हासिल करती है, और अब वह मौत के डर से दबी हुई नहीं रहती। ऐसे माहौल में भी, जहां चीनी कम्युनिस्ट पार्टी लोगों को अंधाधुंध गिरफ़्तार कर उत्पीड़ित कर रही थी, वह अपनी कलीसिया वापस लौट कर अपना कर्तव्य निभाती है और अपनी गवाही में भी डटी रहती है।

और देखें

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें