Hindi Christian Testimony Video | काम की निगरानी करने की हिम्मत न करके किससे बचा जा रहा है?

23 सितम्बर, 2022

वह दयालु और विचारशील अगुआ बनना चाहती थी। दूसरों से रिश्ते बनाए रखने के लिए, वह बिना रुचि के निगरानी करती, सहनशील होकर सहानुभूति दिखाती, इसलिए काम आगे नहीं बढ़ता। निपटान और आलोचना होने पर, उसने आत्मचिंतन शुरू किया। अपनी समस्या के बारे में वह क्या जान सकी? उसने किन बातों पर अमल किया, कौन-से बदलाव किए?

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें