Hindi Christian Testimony Video | सिद्धांत की बातों से मेरी बदसूरती उजागर हुई

09 अक्टूबर, 2022

उसे यकीन है, वह सत्य को समझता है, उसमें सत्य की वास्तविकताएं हैं, क्योंकि वह परमेश्वर के वचनों की कुछ समझ पर संगति करने में समर्थ है। सभाओं में दूसरे भाई-बहनों को अधिक संगति न करते देख वह उन्हें नीची नजर से देखता है। लेकिन, भाई-बहनों की व्यावहारिक समस्याओं से सामना होने पर, वह कोई असली हल नहीं दे पाता। वह आत्मचिंतन शुरू करता है कि क्या परमेश्वर के वचनों पर संगति करने में समर्थ होने का अर्थ यह है कि वह सत्य को समझता है। आत्मचिंतन के बाद वह कौन-सी जागृति हासिल करता है?

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें