2021 Hindi Christian Testimony Video | अपना कर्तव्य खोने के बारे में आत्मचिंतन

15 सितम्बर, 2021

मुख्य किरदार ने पहले-पहल जब कलीसिया में एक काम संभाला, तो वह परमेश्वर के प्रेम को चुकाने के लिए इसे ठीक ढंग से करने का संकल्प किया। लेकिन जब काम में बहुत मेहनत लगाने लगी और वह थोड़ा थकाऊ हो गया तो उसे खीझ होने लगी—वह कोई तकलीफ नहीं सहना चाहता था। वह आसान काम चुनता, मेहनतकश कामों से किनारा करने लगता, और बस यूं ही निपटा देता। यहाँ तक कि जो भाई सच में लगन से अपना कर्तव्य निभाते, वह उन पर हंसता। उसकी काँट-छाँट हुई, निपटान हुआ, फिर भी उसने खुद पर सोच-विचार नहीं किया, वह सोचता कि उसने उनका काम बंद करने के लिए तो कुछ नहीं किया। फिर उसे उसके काम से बर्खास्त कर दिया गया क्योंकि वह अपना रवैया ठीक नहीं करना चाहता था। इसके बाद ही उसने परमेश्वर के सामने प्रार्थना की, परमेश्वर के वचन पढ़े और आत्मचिंतन किया। परमेश्वर के वचनों के न्याय और ताड़ना से उसे कैसी निजी समझ मिली? उसे इसका कैसा फल मिला और वह किस तरह बदला? जानने के लिए देखिए अपना कर्तव्य खोने के बारे में सोच-विचार।

और देखें

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें