Christian Song | क्या तुम यह दावा करने की हिम्मत कर सकते हो कि परमेश्वर का नाम कभी नहीं बदल सकता?

03 सितम्बर, 2020

कुछ लोग कहते हैं कि परमेश्वर का नाम नहीं बदलता,

तो फिर यहोवा का नाम यीशु क्यों हो गया?

यह भविष्यवाणी की गई थी मसीहा आएगा,

तो फिर यीशु नाम का एक व्यक्ति क्यों आ गया?

परमेश्वर का नाम क्यों बदल गया?

क्या इस तरह का कार्य काफी समय पहले नहीं किया गया था?

क्या परमेश्वर आज नया कार्य नहीं कर सकता?

क्या परमेश्वर आज नया कार्य नहीं कर सकता?

कल का कार्य बदला जा सकता है,

और यीशु का कार्य यहोवा के कार्य के बाद आ सकता है।

तो क्या यीशु के कार्य के बाद कोई अन्य कार्य नहीं हो सकता?

तो क्या यीशु के कार्य के बाद कोई अन्य कार्य नहीं हो सकता?

यदि यहोवा का नाम बदल कर यीशु हो सकता है,

तो क्या यीशु का नाम भी नहीं बदला जा सकता?

इसमें कुछ भी असामान्य नहीं है;

बात केवल इतनी-सी है कि लोग बहुत सरल दिमाग के हैं।

परमेश्वर हमेशा परमेश्वर ही रहेगा।

चाहे उसका काम कैसे भी बदले,

चाहे उसका नाम कैसे भी बदल जाए,

लेकिन उसका स्वभाव और बुद्धि कभी नहीं बदलेगी।

यदि तुम्हें लगता है कि परमेश्वर को केवल यीशु के नाम से ही पुकारा जा सकता है,

तो फिर तुम्हारा ज्ञान बहुत सीमित है।

क्या तुम यह दावे से कह सकते हो कि परमेश्वर का नाम हमेशा के लिए यीशु रहेगा,

परमेश्वर हमेशा यीशु नाम से ही जाना जाएगा,

और यह कभी नहीं बदलेगा?

कि यीशु नाम ने व्यवस्था के युग का अंत किया

और वो ही अंतिम युग का भी समापन करेगा?

कौन कह सकता है, यीशु का अनुग्रह, युग का समापन कर सकता है?

परमेश्वर हमेशा परमेश्वर ही रहेगा।

चाहे उसका काम कैसे भी बदले,

चाहे उसका नाम कैसे भी बदल जाए,

लेकिन उसका स्वभाव और बुद्धि कभी नहीं बदलेगी।

लेकिन उसका स्वभाव और बुद्धि कभी नहीं बदलेगी।

लेकिन उसका स्वभाव और बुद्धि कभी नहीं बदलेगी।

'मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ' से

WhatsApp: +91-875-396-2907

और देखें

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

साझा करें

रद्द करें