2020 Christian Testimony Video | क्या बाइबल प्रभु का प्रतिनिधित्व कर सकती है?

2020 Christian Testimony Video | क्या बाइबल प्रभु का प्रतिनिधित्व कर सकती है?

700 |06 नवम्बर, 2020

अधिक देखें सुसमाचार फिल्म श्रृंखला

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhdb8qKy_EQkp8biBOJu2Vln

अधिक देखें कलीसियाई जीवन की गवाहियाँ

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhcFWLsZZDljzOr9ToyWtBmL

मुख्य किरदार एक धर्मनिष्ठ ईसाई है जो मानती है कि बाइबल की हर बात परमेश्वर द्वारा प्रेरित है, बाइबल परमेश्वर का प्रतिनिधित्व करती है, प्रभु में आस्था का अर्थ है बाइबल में आस्था। जब उसे पता चलता है कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया यह गवाही दे रही है कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर लौटकर आया प्रभु यीशु है, परमेश्वर ने नए वचन बोले हैं और वह परमेश्वर के घर से शुरू होने वाला न्याय का कार्य कर रहा है, तो उसके लिए इसे स्वीकारना मुश्किल हो जाता है। वह इस बात से आश्वस्त है कि परमेश्वर का कार्य बाइबल के हटकर नहीं हो सकता, लेकिन प्रभु के लौट आने की खबर उसे बेचैन कर देती है। वह सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों की जाँच-पड़ताल करती है और तब उसे बाइबल के पीछे की असली कहानी और उसका मूल्य समझ में आता है। अंतत:, उसे एहसास होता है कि बाइबल प्रभु का प्रतिनिधित्व नहीं करती, न ही उसमें अनंत जीवन है, बल्कि अंत के दिनों के मसीह का अनुसरण करने से ही सत्य और जीवन की प्राप्ति हो सकती है।

और देखें

क्या आप जानना चाहते हैं कि सच्चा प्रायश्चित करके परमेश्वर की सुरक्षा कैसे प्राप्त करनी है? इसका तरीका खोजने के लिए हमारे ऑनलाइन समूह में शामिल हों।

साझा करें

रद्द करें