2020 Hindi Christian Song | अपनी आस्था में परमेश्वर की गवाही कैसे दें (Lyrics)

26 अगस्त, 2020

अधिक देखें परमेश्वर के वचनों के पाठ:

परमेश्वर के दैनिक वचन : परमेश्वर को जानना

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhdlfF4MNxy1u6__w8UUHfPS

अंत के दिनों के मसीह के कथनों के पाठ

https://www.youtube.com/playlist?list=PLzsaXtMKhYhcXGZhbDht5wC9Dypbf2MEl

ईश-कार्य को देख लेने पर,

उसका अनुभव कर लेने पर,

दुखद होगा अंत तक पहुँचना,

बिना किए वो काम जो तुम्हें करना चाहिए था।

जब भविष्य में सुसमाचार फैले,

तो तुम्हें अपना ज्ञान साझा चाहिए,

दिल में जो पाया उसकी गवाही देनी चाहिए,

कोई प्रयास नहीं छोड़ना चाहिए।

किसी सृजित प्राणी को यही हासिल करना चाहिए।

अगर तुम अटल हो ईश्वर का गवाह बनने को,

तो ईश्वर को किससे घृणा, किससे प्रेम है

ये तुम्हें समझना होगा।

तुम पर किए उसके काम से तुम्हें

उसके स्वभाव को समझना होगा;

उसकी गवाही देने और अपना फ़र्ज़ निभाने के लिए

तुम्हें उसकी इच्छा को,

इंसान से उसकी अपेक्षा को समझना होगा।

ईश-कार्य के इस चरण का क्या महत्त्व है?

उसके कार्य के क्या प्रभाव हैं?

इसमें से कितना किया जाता इंसान पर?

ईश-कार्य में क्या करना चाहिए इंसान को?

जब तुम लोग साफ़-साफ़ बता पाओगे

देहधारी ईश्वर के किए सारे कार्य को,

धरती पर आने से लेकर किए गए उसके हर कार्य को,

तब पूरी होगी गवाही तुम लोगों की।

किसी सृजित प्राणी को यही हासिल करना चाहिए।

अगर तुम अटल हो ईश्वर का गवाह बनने को,

तो ईश्वर को किससे घृणा, किससे प्रेम है

ये तुम्हें समझना होगा।

तुम पर किए उसके काम से तुम्हें

उसके स्वभाव को समझना होगा;

उसकी गवाही देने और अपना फ़र्ज़ निभाने के लिए

तुम्हें उसकी इच्छा को,

इंसान से उसकी अपेक्षा को समझना होगा।

जब ये पाँच बातें तुम स्पष्ट बता पाओ:

उसके कार्य का महत्त्व और विषय-वस्तु,

उसके कार्य का सार और सिद्धांत,

इसके द्वारा निरूपित उसका स्वभाव,

तब साबित होगा इससे, अब तुम

ईश्वर की सच्ची गवाही देने के काबिल हो,

और तुम ज्ञानी हो।

बहुत ऊंची नहीं ईश्वर की अपेक्षाएं तुम सबसे,

पूरी कर सकें वो जो सच में उसका अनुसरण करते।

अगर तुम अटल हो ईश्वर का गवाह बनने को,

तो ईश्वर को किससे घृणा, किससे प्रेम है

ये तुम्हें समझना होगा।

तुम पर किए उसके काम से तुम्हें

उसके स्वभाव को समझना होगा;

उसकी गवाही देने और अपना फ़र्ज़ निभाने के लिए

तुम्हें उसकी इच्छा को,

इंसान से उसकी अपेक्षा को

समझना होगा, समझना होगा।

'मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ' से

WhatsApp: +91-875-396-2907

और देखें

सभी विश्वासी यीशु मसीह की वापसी के लिए तरस रहे हैं। क्या आप उनमें से एक हैं? हमारी ऑनलाइन सहभागिता में शामिल हों और आपको परमेश्वर से फिर से मिलने का अवसर मिलेगा।

साझा करें

रद्द करें