Hindi Christian Testimony Video | भागीदार प्रतिस्पर्धी नहीं होता | True Story of a Christian

15 अक्टूबर, 2022

वह एक कलीसिया अगुआ है। उसकी भागीदार हमेशा उसके काम की समस्याओं पर उंगली उठाती रहती है, इसलिए उसे लगता है कि उसकी छवि खराब हो रही है। वह असंतुष्ट महसूस करते हुए अपनी भागीदार पर पलटवार करने लगती है, जिससे कलीसिया का काम प्रभावित होता है। कौनसे भ्रष्ट स्वभाव के कारण वह अपनी भागीदार को अपनी विरोधी समझने लगती है? अपने इस अनुभव से उसे क्या समझ हासिल होती है और उसमें क्या बदलाव आते हैं?

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें